हरियाणा में आढ़तियों की हड़ताल समाप्त, सरकार के साथ इन मांगों पर बनी सहमति

चंडीगढ़ | मंडियों में फसल लेकर पहुंच रहे किसानों के लिए राहत भरी खबर है. हरियाणा सरकार द्वारा मांगे माने जाने के बाद आढ़तियों ने हड़ताल समाप्त कर दी है. सरकार ने धान की फसल की सरकारी खरीद के लिए ई-नेम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता खत्म कर दी है. अब एक अक्टूबर से मंडियों में धान की फसल की सरकारी खरीद सुचारु रूप से हो सकेगी.

Bajra Mandi

1 अक्टूबर से खरीद शुरू

पिछले तीन-चार दिन से प्रदेश में हुई भारी बारिश से किसानों की मंडियों में बिकने वाली फसल खराब होने लगी थी तो प्रदेश सरकार ने हड़ताली आढ़तियों को बातचीत का न्यौता दिया. कृषि मंत्री जेपी दलाल के साथ शनिवार को नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में आढ़तियों से हड़ताल समाप्त करने का आग्रह किया गया था लेकिन आढ़ती ई-नेम पोर्टल की अनिवार्यता खत्म करने की मांग पर अड़े रहे.

रविवार देर शाम प्रदेश सरकार ने ई-नेम पोर्टल की अनिवार्यता खत्म करने का आदेश जारी किया तो सोमवार सुबह आढ़ती एसोसिएशन ने हड़ताल समाप्त करने का फैसला लिया. बता दें कि आढ़तियों की ई-नेम पार्टल में रजिस्ट्रेशन अनिवार्यता खत्म करने के अलावा मार्केट फीस 4 प्रतिशत से घटाकर 2% करने की भी मुख्य मांग थी जिसे कृषि मंत्री जेपी दलाल ने शीघ्र कम करने का आश्वासन दिया.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 3 दिसंबर को पंच-सरपंचो का शपथ ग्रहण समारोह, इस बार नई पहल शुरू

इसके अलावा जिन बातों पर सहमति बनी है उनमें सरकार आढ़तियों को दूसरे राज्यों के किसानों से फसल खरीद के लिए नहीं रोकेगी. सरकार ने अनौपचारिक रूप से आढ़तियों को ये आश्वासन दिया है. आढ़ती अपना कमीशन भी ढाई प्रतिशत चाहते हैं, इसके लिए प्रदेश सरकार ने अपनी संस्तुति केंद्र सरकार को भेजने का आश्वासन दिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!