एक्सपर्ट से समझें गुड और बैड लोन के बीच का अंतर, Loan लेने से पहले इन बातों का रखें खास ख्याल

नई दिल्ली | लोगों की Income बढ़ने के साथ आजकल महंगाई भी तेज रफ्तार से आगे बढ़ रही है. ऐसे में कुछ विशेष कार्यों को पूरा करने के लिए हमें लोन की तरफ़ जाना पड़ता है. खासकर गाड़ी खरीदने और घर बनाने के लिए ज्यादातर लोग लोन की ओर रुख करते हैं. इससे एक बड़ी रकम का बोझ सीधे आपके सिर पर नहीं पड़ता है. अगर आपने भी किसी बैंक से लोन ले रखा है तो यह खबर आपके बेहद काम की है.

Loan

क्या आप जानते हैं कि यह लोन गुड है या बैड? अगर नहीं, तो आज एक्सपर्ट्स के हवाले से हम आपको बताएंगे कि गुड और बैड लोन में क्या अंतर होता है. इसके अलावा आपको बताएंगे कि लोग लेते वक्त किन बातों पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है और साथ ही समय पर लोन नहीं चुकाने से आपको क्या घाटा झेलना पड़ सकता है.

गुड और बैड लोन

जी बिजनेस पर छपे एक लेख में ‘हम फौजी इनिशिएटिव’ के सीईओ कर्नल संजीव गोविला (रिटायर्ड) और मनी मंत्र के फाउंडर विरल भट्ट ने गुड और बैड लोन में अंतर बताते हुए कहा कि गुड लोन उन्हें कहा जाता है जिनसे आपकी नेटवर्थ में इजाफा होता है. यह लोन समय के साथ आपकी नेट एसेट बढ़ाने में हेल्प करता है. उदाहरणार्थ एजुकेशन लोन,होम लोन और बिजनेस लोन.

यह भी पढ़े -   राष्ट्रपति भवन एक बार फिर आम लोगों के लिए खुला, यहां जानें स्लाट बुकिंग की पूरी जानकारी

कई लोन ऐसे होते हैं जहां हमें रकम से ज्यादा ब्याज भरना पड़ता है. जहां लोन देने वाले और लेने वाले दोनों को घाटा सहना पड़ता है. बैड लोन की ब्याज दरें काफी ऊंची होती है. उदाहरणार्थ ऑटो लोन, क्रेडिट कार्ड लोन और पर्सनल लोन

इन बातों का रखें ध्यान

लोन लेने से पहले कुछ बुनियादी सवाल होते हैं जिन्हें आपको खुद से ही पूछना चाहिए. कितना लोन लेना सही होगा और कितना लोन आप अफोर्ड कर सकते हैं. वेतन-कर्ज अनुपात 40% से ज्यादा नहीं होना चाहिए. सस्ता लोन कौन सा बैंक दे रहा है और सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात यह है कि आप अपने दिमाग में बैठा ले कि एक दिन इस पूरे कर्ज का आपको भुगतान करना होगा.

यह भी पढ़े -   Delhi MCD Election: वोटिंग के दिन मेट्रो के शेड्यूल में बदलाव, 4 दिसंबर को यह रहेगा टाइम

Credit Score

लोन लेने के लिए 750-900 का क्रेडिट स्कोर बहुत अच्छा माना गया है. इस स्कोर के साथ लोन लेने की प्रक्रिया तेज हो जाती है. इसके बाद 700-749 भी अच्छा क्रेडिट स्कोर है. 650-699 का क्रेडिट स्कोर औसत होता है. इससे नीचे के क्रेडिट स्कोर खराब होते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!