कृषि कानूनों की वापसी के बाद हरियाणा में राजनीतिक हलचल तेज, भाजपा ने बुलाई पदाधिकारियों की बैठक

चंडीगढ़ । तीन नए कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा के बाद अब हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी निकाय चुनावों की तैयारियों में जुट गई है. बुधवार दोपहर दो बजे परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के आवास पर प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने एक मीटिंग बुलाई है जिसमें स्थानीय निकाय प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों को बुलाया गया है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने मुख्य सचिव के पद पर संजीव कौशल को किया नियुक्त, पीके दास को बनाया एससीआर

Webp.net compress image 11

हरियाणा में 19 नगर परिषद व 58 नगर पालिकाएं

प्रदेश में 19 नगर परिषद व 58 नगर पालिकाएं है , इनमें से ज्यादातर का कार्यकाल पूरा हो चुका है. कार्यकाल पूरा हुए 6 महीने से भी ज्यादा का समय हो चुका है लेकिन किसान आंदोलन के चलते माहौल पक्ष में न होने के चलते बीजेपी ने इन चुनावों से दूरी बनाए रखना ही बेहतर समझा था.

अबकी बार होगा अध्यक्ष पद का सीधा चुनाव

हरियाणा सरकार ने नगर निगम की भांति ही नगर परिषद व नगर पालिकाओं के अध्यक्ष पद का चुनाव भी सीधे करवाने का निर्णय लिया है. इस संबंध में सभी नगर परिषद व नगर पालिकाओं के चेयरमैन और वार्ड आरक्षण का ड्रा भी निकाला दिया है. यह ड्रा करीब 6 महीने पहले निकाला जा चुका है. पंचायती चुनाव का मामला कोर्ट में लंबित होने के चलते बीजेपी पहले स्थानीय निकाय चुनाव करवाने के मूड में हैं ताकि माहौल अपने पक्ष में बनाया जा सके.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!