सीएम कार्यालय में कामकाज का बंटवारा, ढेसी सबसे पावरफुल होंगे, जाने किसे क्या जिम्मेदारी मिली

Casino

चंडीगढ़ । हरियाणा में बीते दिनों के दौरान नए विभागों के अस्तित्व में आने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों को नए सिरे से विभाग आवंटित कर दिए गए हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय में सीएम के चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी डीएस ढेसी (रिटायर्ड आईएएस) सबसे पावरफुल अधिकारी होंगे.

haryana cm office image
पिछले एक वर्ष के दौरान चार बार सीएमओ का कार्य विभाजन हो चुका है. 20 अक्टूबर 2020 के बाद एक दिसंबर 2020 को नए सिरे से वर्क अलॉट हुआ है. इसके बाद 30 जनवरी व 11 फरवरी 2021 को कार्य विभाजन हुआ था. सभी प्रकार के विधायी मामलों के अलावा मंत्रिमंडल, ऑर्डिनेंस, संसदीय कार्य मामले तथा विधायी कार्यों का जिम्मा चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी डीएस ढेसी के कंधों पर रहेगा.

सरकार द्वारा नए बनाए गए सिटीजन रिसोर्स इनफार्मेशन डिपार्टमेंट की कमान भी डीएस ढेसी ही संभालेंगे. इसके अलावा आबकारी एवं कराधान विभाग, सिंचाई, सामान्य प्रशासन, प्रशासनिक सुधार एवं ट्रेनिंग, विजिलेंस, गृह, सीआईडी, जेल, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग,शहरी स्थानीय निकाय, उधोग, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी,वित विभाग के साथ सीएम ऑफिस के ओवरआल इंचार्ज भी डीएस ढेसी ही संभालेंगे.

मुख्यमंत्री कार्यालय की स्थापना शाखा के अतिरिक्त वे उन सभी विभागों को देखेंगे , जिनके कार्यभार का जिम्मा अन्य किसी अधिकारी को नहीं सौंपा गया है. इसी तरह से मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी. उमाशंकर को अक्षय उर्जा, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, विज्ञान एवं तकनीकी, परिवहन ,खनन एवं भूविज्ञान तथा नागरिक एवं उड्डयन विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है.
मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव योगेन्द्र चौधरी को सीएमओ की वरिष्ठता सूची में तीसरे नंबर पर रखा गया है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में सस्ती हुई बिजली, उपभोक्ताओं को मिलेगी प्रति माह 100 करोड़ रुपये की राहत

योगेन्द्र चौधरी को कला एवं संस्कृति मामले, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, पर्यटन, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, पशुपालन एवं डेयरी विकास,कौशल विकास एवं औधोगिक प्रशिक्षण विभाग का जिम्मा सौंपा गया है. ड्रग फ्री हरियाणा मिशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर भी योगेन्द्र चौधरी होंगे. रिसोर्स मोबलाइजेशन से जुड़े मामले की जिम्मेदारी भी योगेन्द्र चौधरी संभालेंगे.

यह भी पढ़े -   काला पानी: हरियाणा और राजस्थान के लोग आमने-सामने, खोद डाला नेशनल हाईवे

सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डॉ अमित अग्रवाल को आयुष, हेल्थ , चिकित्सा, शिक्षा, स्कूल एजुकेशन, तकनीकी शिक्षा, विकास पंचायत,वन एवं वन्य जीव,श्रम एवं रोजगार तथा बिजली मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है. सीएम की अतिरिक्त प्रधान सचिव आशिमा बराड़ के पास अभिलेखागार , पुरातत्व एवं संग्रहालय , आर्किटेक्चर, चुनाव, पर्यावरण, खाद्य एवं आपूर्ति, मत्स्य पालन, हाउसिंग, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी,खेल एवं युवा मामले, महिला एवं बाल विकास , पीडब्ल्यूडी , कृषि सहकारिता, सैनिक व अर्द्धसैनिक जैसे बड़े महकमों की जिम्मेदारी सौंपी गई है.
सीएम के प्रिंसिपल ओएसडी नीरज के पास पहले की तरह पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट बना रहेगा.

यह भी पढ़े -   इंटरनेशनल मास्टर एथलीट मान कौर की जिंदगी की दौड़ पूरी, पीएम मोदी रह चुके हैं फिटनेस के मुरीद

वहीं सीएम के ओसएडी सतीश कुमार को मुख्यमंत्री की घोषणाओं, सीएम रिलीज फंड, वक्फ बोर्ड के अलावा एफआरडीएस का जिम्मा सौंपा गया है. सीएम के ओसएडी भुपेंद्र दयाल को ग्रीवेंस का जिम्मा सौंपा गया है. वह सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों का निपटारा करेंगे. सीएम के चौथे ओसएडी एचसीएस सुधांशु गौतम को बदलियों का जिम्मा सौंपा गया है. आनलाईन ट्रांसफर पोलिसी भी यही संभालेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!