हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा-लॉकडाउन पर अभी कोई विचार नही

चंडीगढ़ | हरियाणा के मुखिया मनोहर लाल ने आज राज्य की वर्तमान कोरोना स्थिति व इससे निपटने के लिए की जा रही व्यवस्थाओं को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि लगातार बढ़ते संक्रमण की वजह से आवश्यकताएं बढ़ रही है, लेकिन हम उसके लिए तैयार हैं. महामारी के रूप में इतनी बड़ी सुनामी आएंगी, इसका किसी को अंदाजा नहीं था. पिछले दो -तीन दिनों से कोरोना संक्रमित केसों की संख्या 10 से 12 हजार के आसपास ही रह रही हैं. बहुत सी व्यवस्थाएं काबू से बाहर होती है लेकिन फिर भी हम मेडिकल व्यवस्था को मजबूत करने में लगे हुए हैं.

haryana cm press conference

आक्सीजन की समस्या पर कहा यह

आक्सीजन की समस्या पर मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार ने हमारा कोटा बढ़ाकर 162 से 232 मीट्रिक टन कर दिया है. इतने सारे लोगों को एक साथ आक्सीजन की जरूरत पड़ेगी, ये हमने कभी सोचा नहीं था. आक्सीजन ट्रांसपोर्ट में भी समस्या आ रही है. हम इस नेटवर्क को सुचारू रूप से चलाने में लगे हुए हैं. LPG सिलेंडर के माध्यम से आक्सीजन की सप्लाई करने का सुझाव भी हमें मिला है. इंडस्ट्री में छोटे-छोटे यूनिट जो सिलेंडर में आक्सीजन भरते हैं,10-12 सेंटर फिलिंग स्टेशन के रूप में काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में पेट्रोल-डीजल के दामों में लगी आग, जाने आज के भाव

नए अस्पताल जल्द होंगे तैयार

व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए मैंने एक दिन पहले ही पांच अलग-अलग जगहों का दौरा किया था. पानीपत में 500 बेड का नया अस्पताल कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए तैयार हो रहा है. इसी प्रकार जिंदल ग्रुप ने भी हिसार में अपने स्कूल जिंदल मॉडल स्कूल में 150 बेड का अस्थाई अस्पताल बनाने के लिए कहा है. जिंदल इंडस्ट्री ने आक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए भी बोला है. रोहतक में 650 नए बेड की व्यवस्था के साथ जल्द ही आक्सीजन की सप्लाई पूरी होते ही शुरू कर दिया जाएगा.

फरीदाबाद में एक अस्पताल को हमने अपने अधीन लेकर 250 बेड की व्यवस्था के साथ शुरू करने का फैसला लिया है. गुरुग्राम में भी एक संस्था द्वारा 250 बेड का अस्पताल शुरू करने का आग्रह किया है. जैसे ही जरुरत के मुताबिक आक्सीजन की सप्लाई शुरू हो जाएगी, इन जगहों पर भी इलाज शुरू कर दिया जाएगा. विदेशों से भी आक्सीजन के ऑफ़र आ रहे हैं. एक- एक बात को पूरा कर हम आगे बढ़ रहे हैं.

कोरोना मृत बयान पर बोले सीएम

एक दिन पहले रोहतक दौरें पर आंकड़ों को लेकर दिए बयान पर सफाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि खुलकर बात करना मेरा स्वभाव है. ज्यादा तोड़-मरोड़कर बात करना मेरी आदत नही है. मीडिया के मित्रों ने सवाल ही ऐसे खड़े कर दिए कि आंकड़े नहीं मिल रहे. उन्होंने कहा कि हमारे शोर मचाने से कोई वापिस तो नहीं आ सकता लेकिन हमारे पास जो है,उसको बेहतर मेडिकल सुविधा मिल सके, उसके लिए हम प्रयासरत हैं. सबके सहयोग से ही हम इस महामारी का मुकाबला कर सकते हैं. मेरी छोटी सी बात का मीडिया के साथियों ने बवंडर बना कर रख दिया.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने कोरोना के उपचार के लिए तय किये रेट, देखें सूची

विपक्षी दलों को लेकर कही ये बात

उन्होंने तमाम विपक्षी दलों से भी आपसी राजनीतिक मतभेद भुलाकर इस महामारी के खिलाफ एकजुट होने की अपील की. उन्होंने कहा कि कई विपक्षी नेताओं ने मदद के लिए हाथ बढ़ाएं है. जैसे ही आक्सीजन की आपूर्ति पूरी होगी,हम इन्हें सूचित करेंगे. उन्होंने लोगों से भी अपील की है कि ऑक्सीमीटर की सहायता से अपने आक्सीजन लेवल को घर पर ही चेक करें. यदि आक्सीजन लेवल 90 से कम है तो ही मरीज को आक्सीजन के लिए हस्पताल लेकर जाएं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, जाने

सभी जिले में 144 लागू

उन्होंने कहा कि सभी जिलों के उपायुक्तो को धारा 144 का सख्ती से पालन करने के लिए कहा गया है. जहां आबादी के हिसाब से 10% से ज्यादा कोरोना संक्रमित केस मिलते हैं, वहां माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाएं. आयुष मंत्रालय से भी बात की गई है कि वो इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने वाली दवाएं घर-घर जाकर बांटे. उन्होंने कहा कि दिल्ली में संक्रमित केसों की संख्या में कमी आएगी तो इसका असर फरीदाबाद, गुरुग्राम व सोनीपत में भी देखने को मिलेगा.

सिरियस मरीजो को दी जाए प्राथमिकता

उन्होंने गुरुग्राम जैसे बड़े शहरों के अस्पतालों के बाहर मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर कहा कि अडमिट की व्यवस्था हास्पिटल अपनी कैपेसिटी के हिसाब से ही करेगा. उन्होंने कहा कि सीरियस मरीजों को आक्सीजन व वेंटिलेटर की सुविधा मे प्राथमिकता दी जाएं. उन्होंने दवाइयों व आक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने के निर्देश दिए.

लॉकडाउन पर क्या कहा

सम्पूर्ण लाकडाउन के विषय पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे प्रदेश का आर्थिक चक्र रुकेगा. ज्यादा मूवमेंट रोकने के प्रयास नहीं होंगे. उधोग धंधे कोविड प्रोटोकॉल के तहत चलते रहेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!