हरियाणा पुलिस कांस्टेबल पेपर लीक को लेकर सीएम का बड़ा बयान, जाने क्या कहा

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि सरकारी नौकरियों की भर्ती प्रक्रिया में मिशन मेरिट और मिशन पारदर्शिता लगातार जारी रहेगा. पिछले दिनों लीक हुए सिपाही भर्ती पेपर को उन्होंने दुर्भाग्यपूर्ण घटना मानते हुए कहा कि हम इस मामले के आरोपियों के बेहद नजदीक पहुंच चुके हैं. अभी तक इस मामले में 25 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

haryana cm press conference

मिशन मेरिट और मिशन पारदर्शिता के आधार नौकरियों की भर्ती

मुख्यमंत्री ने हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान यह बात कही. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हमारी पुलिस जांच करने में सक्षम है और बेहतर कार्य कर रही है. अगर हम मामले की जड़ तक नहीं पहुंच पाए तो किसी भी एजेंसी से जांच कराने की बात आ सकती है. साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि जांच में कोई भी कसर नहीं छोड़ी जाएगी.

यह भी पढ़े -   आज हरियाणा के CM खट्टर 'समर्पण' कार्यक्रम के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ, जानिए आप भी 

सभी पहलुओं की जांच की जाएगी की,  पेपर की प्रिंटिंग कहां हुई और लीक कहां से हुआ, वहां तक हमारी पुलिस पहुंच चुकी है. साथ ही उन्होंने कहा कि यदि एचएसएससी या सरकार में बैठे व्यक्ति जिम्मेदार होगा तो उन्हें भी बख्शा नहीं जाएगा. नकल को रोकने के लिए कानून भी बनाए जा रहे हैं. हमें सावधानी बरतनी पड़ेगी और सजा का प्रावधान भी करना पड़ेगा.

मुख्यमंत्री ने विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि हमारी सरकार पारदर्शिता व मेरिट के आधार पर भर्ती कर रही है. पूर्व की सरकारों की तरह युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं कर रही. उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकार द्वारा की गई पीटीआई आर्ट एंड क्राफ्ट शिक्षकों की भर्ती इस बात का प्रमाण है कि इस भर्ती प्रक्रिया से खिलवाड़ किया गया. साथ ही उन्होंने कहा कि यह भर्तियां कोर्ट ने रद्द की और इसकी जिम्मेदार पूर्व की सरकारें हैं. कोर्ट ने पूर्व की सरकारों की तीन भर्तियां रद्द की.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!