अब जमीन खाली छोड़ने पर भी 7 हजार रुपए प्रति एकड़ देगी हरियाणा सरकार, जानिए क्या करना होगा

चंडीगढ़ | हरियाणा सरकार ने पानी बचाने के उद्देश्य से इस साल को लेकर फसल विविधीकरण योजना जारी कर दी है. मेरा पानी- मेरी विरासत योजना के लिए अब जो किसान धान की जगह पर पानी की कम खपत वाली फसल की बिजाई करेगा, उसे सरकार द्वारा 7 हजार रुपए प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि दी जाएगी.

यह भी पढ़े -   गेहूं के निर्यात पर लगे बैन से मोदी सरकार ने दी कुछ राहत, किया ये ऐलान

haryana cm

इस बार खास बात यह होगी कि जो किसान धान की जमीन को खाली छोड़ता है, उसे भी 7 हजार रुपए प्रति एकड़ की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. कृषि विभाग का कहना है कि इस योजना के तहत जो किसान धान के बदले में कपास, मूंग, मक्का, ग्वार, अरहर, उड़द, मोठ, सोयाबीन, तिल, मूंगफली, चारा, खरीफ प्याज, बागवानी व सब्जी की खेती करेगा, उसे प्रदेश सरकार द्वारा प्रति एकड़ 7 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी.

योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी

इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए किसान साथियों को मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर मेरा पानी- मेरी विरासत योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी होगा. रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 15 मई से शुरू होकर 30 जून तक चलेगी. रजिस्ट्रेशन किसानों का सत्यापन कृषि विकास अधिकारी, नंबरदार व पटवारी की संयुक्त टीम द्वारा किया जाएगा. जिन किसानों ने पिछले साल भी इस योजना का लाभ उठाया था, वो किसान इस साल भी दोबारा लाभ उठा सकते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!