कल DEO करेंगे निरीक्षण, अगर आठवीं तक स्कूल खुले मिले तो दर्ज होगी FIR

जींद । बढ़ते कोरोना को लेकर सरकार द्वारा पहली से आठवीं कक्षा तक के स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया था, लेकिन इसके बावजूद निजी स्कूल खुले दिखाई दिए. सोमवार को निजी स्कूल संचालकों ने सरकार के फैसले का विरोध किया औऱ डीसी को ज्ञापन भी सौंपा . स्कूल खोलने की अनुमति नहीं देने पर 15 अप्रैल को लघु सचिवालय में डेरा डालने की चेतावनी  भी दी.

SCHOOL CHAPEMARI 2

स्कूलो पर छापेमारी का फाइल फोटो ।

यह भी पढ़े -   हरियाणा के ये 15 गांव शहर से भी होगा हाईटैक, हर घर में हाई स्‍पीड इंटरनेट कनेक्‍शन

मंगलवार को भी खुले रहे निजी स्कूल 

बता दें कि सोमवार की तरह ही मंगलवार को भी कई स्कूल खुले रहे. हालांकि खंड शिक्षा अधिकारियों की तरफ से आठवीं तक स्कूलों को बंद करने की रिपोर्ट दी गई. इस रिपोर्ट में दावा भी किया गया कि कुछ स्कूल खुले थे,  जिन्हें बाद में बंद करवाया गया. बुधवार को अंबेडकर जयंती होने के चलते सरकारी अवकाश है. 15 अप्रैल को जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सतानंद वत्स खुद फील्ड में उतर कर स्कूलों का निरीक्षण करेंगे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा बोर्ड 12वीं की बोर्ड परीक्षा पर मंथन, जाने कब होंगी परीक्षाएं

जिन स्कूलों में पहली से आठवीं तक कक्षा लगी मिलेगी, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी. डीसी कार्यालय में एक अभिभावक की भी शिकायत आई है कि स्कूल वाले बच्चों को भेजने के लिए दबाव डाल रहे हैं. बता दें कि इस शिकायत में स्कूल का नाम नहीं लिखा है, जिसकी वजह से इस पर कोई कार्यवाही नहीं की जा सकती. जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सदानंद वत्स ने बताया कि जो भी स्कूल इन आदेशों का पालन नहीं करेगा,  उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज  की जाएगी. साथ ही अभिभावकों से भी अपील है कि वे आठवीं कक्षा तक के बच्चों को स्कूल ना भेजें. कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण सरकार ने बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!