अब किसी भी स्कूल में नहीं बैठेंगे एक बैंच पर दो से ज्यादा विद्यार्थी, जानिये पूरा मामला

कैथल | उत्तर भारत में लोगों का गर्मी से बुरा हाल है. अब हरियाणा के कैथल जिले में डीसी प्रदीप दहिया ने गर्मी के मौसम को देखते हुए जिले के किसी भी स्कूल में एक बेंच पर 2 से अधिक विद्यार्थी के बैठने पर पाबंदी लगा दी.

School Student

जानिये मेरी कॉपी मेरी किताब परियोजना के बारे मे

वहीं स्कूलों में सफाई व्यवस्था पर भी विशेष ध्यान देने की बात कही. उन्होंने कहा कि शिक्षकों को चाहिए कि वे स्कूलों में उपरोक्त कार्य को प्राथमिकता के आधार पर करें. वह गांव नैना में मेरी कॉपी मेरा किताबी योजना के तहत स्कूल में निरीक्षण करने के लिए पहुंचे. यहां पर उन्होंने कहा कि प्राथमिक कक्षाए छात्रों को सबसे बुनियादी और मूलभूत शिक्षा प्रदान करती है.

इसी से आगे की पढ़ाई के लिए उनका आधार मजबूत होता है. वहीं दूसरी ओर यदि प्राथमिक चरण में ही बच्चों को अच्छे से शिक्षा ना दी जाए, तो भविष्य में उन्हें उच्च शिक्षा प्राप्त करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसलिए उनके पढ़ने के साथ-साथ लेखन ज्ञान को भी बढ़ाने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि छात्रों के पढ़ने और लिखने के कौशल में सीखने की खाई को पाटने के लिए जिला में 5 सप्ताह का एक गहन अभियान चलाया है, जिसमें विशेष रूप से डिजाइन किए गए मोड्यूल को कक्षाओं में लागू किया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   किसान खरबूजे की खेती कर ऐसे हो सकते हैं मालामाल, जानिए तरीका

इस योजना का उद्देश्य कोरोना काल में बच्चों के पठन और लिखने की कला में जो अंतर आया है, उसे दूर करना है. जिससे कि सभी बच्चों की लिखाई व पढ़ाई अच्छे से हो सके. कैथल ब्लॉक में कक्षा तीसरी से आठवीं में पढ़ने वाले सभी छात्रों को इसमें शामिल किया गया. इस योजना में ज्ञान देने के लिए बच्चों की रुचि अनुसार विषय पाठ्यक्रम तैयार किया गया है, जिससे उनकी रचनात्मक सोच और लेखन ज्ञान में भी काफी वृद्धि होगी. सीएमजीजीए कुनाल चौहान ने कहा कि मेरी कॉपी मेरी किताब प्रयोजना को उपायुक्त प्रदीप दहिया के मार्गदर्शन में चलाया गया है. इसके पाठ्यक्रम को डाइट प्रिंसिपल डॉ सुदीप सिवाच की देखरेख में तैयार किया गया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!