दिल्ली-करनाल रैपिड मेट्रो को लेकर अहम अपडेट, लोगों की सुविधा के लिए उठाया ये बड़ा कदम

करनाल | रैपिड मेट्रो को करनाल तक लाने का महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पूरा होने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. इस प्रोजेक्ट के तहत इस रैपिड मेट्रो को दिल्ली से करनाल तक रेलवे लाइन के साथ लाने की योजना पर भी विचार किया गया. लेकिन जनता की सुविधा और अन्य बिंदुओं को देखते हुए इसे खारिज कर दिया गया. अब यह प्रोजेक्ट हाईवे के किनारे बनाया जाएगा. जिससे लोगों को ज्यादा सहूलियत होगी. करनाल के लिहाज से हाईवे के आसपास बड़ी आबादी है. पड़ोसी जिलों के लोगों के लिए भी यहां पहुंचना आसान होगा.

Delhi Metro

हालांकि इस परियोजना को प्राथमिक स्तर पर शुरू करने का काम भी पूरा कर लिया गया है. ड्रोन सर्वेक्षण के लिए मिट्टी परीक्षण और खंभों की स्थापना की प्रक्रिया पहले ही पूरी कर ली गई थी. पहले यह प्रोजेक्ट पानीपत तक था, लेकिन सीएम मनोहर लाल के प्रयासों से इसे करनाल तक बढ़ा दिया गया.

हाईवे के साथ आएगी रैपिड मेट्रो

घरौंदा विधायक हरविंद्र कल्याण का कहना है कि इस परियोजना के तहत रैपिड मेट्रो को रेलवे लाइन के साथ लाने का पहलू भी सामने आया था, लेकिन यह अमल में नहीं आ सका. जनता की सुविधा व अन्य बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए इसे हाईवे के किनारे बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि सीएम के प्रयासों से ही करनाल तक यह प्रोजेक्ट आ रहा है. इस परियोजना के लिए राज्य सरकार से मंजूरी मिल गई है. इस प्रोजेक्ट पर जोर-शोर से काम चल रहा है.

यह भी पढ़े -   सीएम खट्टर ने करनाल को दी बड़ी सौगात, ड्राइविंग प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान का किया उद्घाटन

करनाल से दिल्ली तक बनेंगे 17 स्टेशन

पिछले साल ड्रोन सर्वे से पता चला था कि इस प्रोजेक्ट से ट्रेन का ट्रैक कहां से गुजरेगा. जबकि खंभों को जमीन के अंदर 30 फीट तक ले जाया जाएगा. इसके बाद इन पर ट्रेन लाइन बिछाई जाएगी. अब पानीपत से करनाल तक की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी लगभग फाइनल हो चुकी है. इस परियोजना के तहत करनाल से दिल्ली तक 17 स्टेशन बनाने का निर्णय लिया गया है.

यह भी पढ़े -   महंगाई पर सीएम खट्टर का बड़ा बयान, कांग्रेस को बताया महंगाई की वजह

एक घंटे में पहुंच जाएंगे राजधानी

करनाल से दिल्ली पहुंचने में बस या ट्रेन से करीब ढाई घंटे का समय लगता है. इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद यह यात्रा महज एक घंटे और कुछ मिनटों में पूरी हो जाएगी. पिछले साल दिल्ली-पानीपत रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) को सरकार से मंजूरी मिली थी. हालांकि पहले यह परियोजना दिल्ली से पानीपत तक थी, लेकिन राज्य सरकार के प्रयासों से यह परियोजना करनाल में पूरी हुई. स्टेशन और रूट तय किए गए और डीपीआर भी तैयार की गई.

ऊंचा समाना व घरौंदा में बनेंगे स्टेशन

परियोजना में दिल्ली से करनाल तक कुल 17 स्टेशन बनाने का प्रस्ताव है. करनाल जिले में पानीपत की ओर से आने वाला पहला स्टेशन घरौंदा में बनेगा. इसके बाद ऊंचा समाना में ट्रेन में चढ़ने के लिए स्टेशन बनाया जाएगा. जबकि तीसरा स्टेशन बाल्दी बाईपास के पास होगा. तीनों जगह हाईवे के किनारे हैं. ऊंचा समाना स्टेशन का लाभ अगर आसपास के ग्रामीणों को मिलेगा तो हाईवे के जरिए भी स्टेशन पहुंचा जा सकता है. जबकि बाल्दी बाईपास का स्टेशन नए बस स्टैंड के पास होगा. दिल्ली जाने के लिए लोग दूसरे जिलों से बसों में यहां आते हैं. आप रेल यात्रा का लुत्फ उठा सकेंगे जबकि घरौंदा स्टेशन भी लोगों के लिए फायदेमंद रहेगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा: राशन के साथ जबरदस्ती तिरंगा लेने के लिए किया जा रहा था मजबूर, सरकार ने किया डिपो होल्डर का लाइसेंस रद्द

6 से 10 मिनट में उपलब्ध हो जाएगी सेवा

इस प्रोजेक्ट की खास बात यह है कि लोगों को ट्रेन के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा. क्योंकि छह से 10 मिनट के बीच में ट्रेन स्टेशन पर उपलब्ध हो जाएगी. ट्रेन में एक बार में 250 लोग सवार हो सकेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!