Buck Supermoon: गुरु पूर्णिमा पर सुपरमून का कीजिए दीदार, इसका हिरन से है खास संबंध

नई दिल्ली, Buck Supermoon | आप में से बहुत से लोगों ने जून के महीने में सुपरमून या strawberry मून को नहीं देखा होगा, लेकिन टेंशन मत लिजिए क्योंकि आज यानी 13 जुलाई को एक बार फिर से आप इस सुपरमून को देख सकते हैं. जो कि इस साल का सबसे बड़ा सुपरमून होने जा रहा है. इस सुपरमून को Buck Supermoon भी कहा जाता है.

chandra grahan

कब दिखता है सुपरमून

सुपरमून तब दिखता है जब एक पूर्ण चंद्रमा पृथ्वी के निकटतम अण्डाकार कक्षा में आने के साथ मेल खाता है. निकटतम बिंदु को पेरिगी (Perigee)कहा जाता है. ‘सुपरमून’ एक तरह से अमावस्या या पूर्णिमा को भी संदर्भित करता है जो तब दिखाई देता है जब चंद्रमा परिधि के 90% के भीतर होता है. 2022 का पहला सुपरमून जून में और साल का तीसरा और फाइनल अगस्त में उदय होगा. उसके बाद अगला सुपरमून 18 सितंबर, 2024 को दिखाई देगा.

सुपरमून को Buck Moon क्या कहां जाता है

जुलाई माह में आने वाले इस सुपरमून को Buck Moon इसलिए कहा जाता है क्योंकि जून- जुलाई के महीने के दौरान नर हिरन के सींग तेजी से विकसित होते हैं. इस दौरान इनके सींग सबसे बड़े आकर में होते हैं और इनके सींग हर हफ्ते करीब 2 -2 इंच तक बड़े हो सकते हैं.

यह भी पढ़े -   सादगी और जिंदादिली की मिसाल थे राकेश झुनझुनवाला, नहीं भुला पाएंगे उनका बेबाक अंदाज

तीन दिन तक रहेगा सुपरमून

नासा के मुताबिक, इस साल का सबसे बड़ा और दूसरा सुपरमून इस हफ्ते तीन दिन तक रहेगा. यानी बुधवार (13 जुलाई) को सुबह 5:00 बजे और (Eastern Daylight Time) / (2:30 PM IST) चंद्रमा पृथ्वी के अपने निकटतम बिंदु पर पहुंचेगा और बुधवार की शाम तक, शाम 9:44 बजे EDT (Eastern Daylight Time)/ (सुबह 7:14 बजे IST) समाप्त हो जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!