Vastu Tips: रोटी परोसते समय भूलकर भी ना करें ये गलतियां, तबाह हो जाएगा आपका हंसता- खेलता परिवार

नई दिल्ली, Vastu Tips | जीवन जीने के लिए नित्य समय पर पौष्टिक भोजन बेहद आवश्यक होता है, परंतु कई बार ऐसा होता है कि अच्छा भोजन करने के बावजूद भी तबीयत सही नहीं रहती. वही घर में दरिद्रता व कंगाली भी अपने पांव पसारने लगती है. बता दें कि इसकी मुख्य वजह आपका भोजन नहीं है, बल्कि उसे परोसने का तरीका है. आज की इस खबर में हम आपको रोटी परोसते समय क्या गलतियां नहीं करनी चाहिए, उनके बारे में बताएंगे. यदि आप ऐसे ही गलतियां करते रहे, तो जल्द ही आप कंगाल हो जाएंगे.

Roti

भोजन परोसते समय इन बातों का रखें ध्यान  

  1.  वास्तु शास्त्र के अनुसार, कई बार अनजाने में की गई छोटी-छोटी गलतियां भी हमारे जीवन में बड़ा भूचाल ला सकती है. इन्हीं में से एक चूक है, गलत तरीके से रोटी परोसना. इसकी वजह से घर में आर्थिक तंगी के साथ-साथ ग्रह कलेश की समस्या भी पैदा हो जाती है. सनातन धर्म के अनुसार भोजन कर रहे किसी भी व्यक्ति को कभी भी एक साथ तीन रोटियां नहीं परोसनी चाहिए. ऐसा करने से सुख शांति भंग हो जाती है और परिवार पर नकारात्मक ऊर्जा हावी हो जाती है. इसके बजाय आप एक या दो रोटी परोस सकते हैं.
  2.  कई बार भोजन करते समय किसी व्यक्ति की थाली में रोटी खत्म हो जाती है, तो ऐसे में रसोई में से रोटी हाथ में लेकर व्यक्ति को नहीं देनी चाहिए. हाथ में रोटी लेकर परोसना दरिद्रता को न्योता देता. ऐसा माना जाता है कि हाथ में रोटी देने से भोजन खिलाने का पुण्य भी खत्म हो जाता है इसलिए भूल से कभी भी ऐसी गलती नहीं करनी चाहिए. रोटी को हमेशा किसी थाली या प्लेट में रखकर ही परोसना चाहिए.
  3. अक्सर ऐसा होता है कि रोटियां बच जाने पर कई घरों में उन्हें रख लिया जाता है और बाद में खा लिया जाता है, यदि आप उन रोटियों को खुद खाते हैं तो कोई बात नहीं है. परंतु यदि आप उन्हीं रोटियों को किसी साधु- संत या मेहमान को खिलाते हैं, तो भगवान आपसे नाराज हो जाते हैं. जिस वजह से आपका हंसता खेलता घर भी बर्बाद होने लग जाता है. इसलिए आपको कभी भी ऐसी गलती नहीं करनी चाहिए.
यह भी पढ़े -   2023 के शुरू होते ही इन राशि के जातकों की चमकेगी किस्मत, 17 जनवरी से इस राशि में गोचर कर रहे शनि देव

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!