सरकार की तरफ से टैक्सपेयर के लिए किया गया बड़ा ऐलान, ITR के इस बड़े नियम में बदलाव

नई दिल्ली | आइटीआर (ITR) फाइल करने की लास्ट डेट 31 जुलाई रखी गई थी, उसके बाद भी यदि आप लोगों ने अभी तक आईटीआर नहीं भरा है, तो आप जुर्माने के साथ तुरंत इसका भुगतान कर दे. आप इसका जितना देरी से भुगतान करेंगे आपका जुर्माना उतना ही बढ़ेगा. इसी बीच सरकार ने ITR के एक बड़े नियम में भी बदलाव कर दिया है. सरकार की तरफ से वेरिफिकेशन के नियम में सख्ती कर दी गई है. वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए नोटिफिकेशन में स्पष्ट कहा गया है कि अब लोगों को ई -वेरिफिकेशन के लिए महज 30 दिन का ही समय दिया जाएगा.

Income

सरकार ने किया ITR के बड़े नियम में बदलाव 

इन आदेशों के तहत आयकर विभाग ने अब इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने के बाद e-verification या itr-v की हार्ड कॉपी जमा करवाने की समय सीमा को 120 दिनों से घटाकर महज 30 दिन कर दिया है, जो 1 अगस्त से लागू हो चुका है. विभाग की तरफ से 29 जुलाई को एक अधिसूचना जारी कर समय सीमा में बदलाव की घोषणा की गई थी. जिन्होंने 1 अगस्त को आइटीआर जमा किया था, उनके लिए की वेरिफिकेशन की लास्ट डेट 31 अगस्त यानी आज की है. जब आप 1 अगस्त या इसके बाद अपना आयकर रिटर्न फाइल करते हैं, तो आप पर यह नियम लागू होंगे. सीबीडीटी के नए नोटिफिकेशन के तहत अब इलेक्ट्रॉनिक रूप से रिटर्न प्रस्तुत करने की तारीख वही मानी जाएगी, जब फॉर्म आइटीआर- वी इलेक्ट्रॉनिक रूप से डाटा ट्रांसफर करने की तारीख के 30 दिनों के अंदर जमा किया जाएगा.

इस प्रकार करवाए आइटीआर ई- वेरीफाई

  • आप आधार ओटीपी के जरिए वेरीफाई करवा सकते हैं.
  • डीमैट खाता संख्या के जरिए ईवीसी.
  • बैंक अकाउंट नंबर के जरिए भी ईवीसी करवाई जा सकती है.
  • नेट बैंकिंग के जरिए ई -फाइलिंग अकाउंट में लॉग इन करके.
  • सीपीसी बेंगलुरु को डाक के जरिए आइटीआर- वी साइन की कॉपी भेज कर.
यह भी पढ़े -   आपकी एक गलती से 25 हजार का भी कट सकता है चालान, यहाँ जानें नए ट्रैफिक नियम

आधार के जरिए आइटीआर वेरीफाई करने की प्रोसेस

  • सबसे पहले आपको अपने ई-फाइलिंग खाते के एक्सेस के लिए www.incometax.gov.in पर जाना होगा.
  • इस लिंक के तहत ई-वेरिफाई रिटर्न ऑप्शन को सेलेक्ट करें.
  • इसमें आधार के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी का उपयोग करके वेरिफाई करे. फिर ई-वेरिफाई स्क्रीन पर क्लिक करें.
  • आधार ओटीपी स्क्रीन पर चेक किए गए ‘आधार डिटेल को वेरिफाई करने के लिए सहमत हूं’ को सलेक्ट करें. फिर आधार ओटीपी जेनरेट करें पर क्लिक करें.
  • अपने आधार-रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजे गए 6 अंकों के ओटीपी को एंटर करने के बाद Validate पर क्लिक करें.
  • याद रखें कि यह ओटीपी सिर्फ 15 मिनट के लिए वैलिड है. आपको सही OTP दर्ज करने के लिए तीन मौके दिए जाएंगे. स्क्रीन पर आपको एक ओटीपी एक्सपायरी काउंटडाउन टाइमर भी दिखेगा, जो ओटीपी के आने पर आपको सूचित करेगा. वहीं जब आप Resend OTP पर क्लिक करेंगे तो एक नया OTP जेनरेट होगा और आपको मिलेगा.
  • अब सक्सेस मैसेज और ट्रांजेक्शन आईडी वाला पेज आएगा. आगे इस्तेमाल के लिए ट्रांजेक्शन आईडी को संभाल कर रखें. आपने फाइलिंग पोर्टल पर जो ई-मेल और मोबाइल नंबर दिया था उसपर एक कंफर्मेशन मैसेज भी भेजा जाएगा.
यह भी पढ़े -   क्या 5G सर्विसेज यूज करने के लिए ग्राहकों को खरीदनी पड़ेगी नई सिम, कितनी होगी रिचार्ज की कीमत

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!