जनता बोले- अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करो, जानिए! आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड कर रहा ‘अरेस्ट केजरीवाल’ #ArrestKejriwal

Casino

नई दिल्ली | आज सुप्रीम कोर्ट की कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान दिल्ली में बढ़ी ऑक्सीजन डिमांड को लेकर एक रिपोर्ट सामने आती है. जिसके बाद से दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच जबरदस्त जंग देखने को मिल रही है. इसी बीच सोशल मीडिया के सबसे प्रभावी माध्यम यानी ट्विटर पर अरेस्ट केजरीवाल (Arrest Kejriwal) नाम से एक हैशटैग जबरदस्त तरीके से ट्रेंड कर रहा है. इस रिपोर्ट के माध्यम से हम आपको समझाएंगे की आखिर हैशटैग अरेस्ट केजरीवाल ट्विटर पर क्यों ट्रेंड कर रहा हैं.

arvind kejriwal

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के समय देशभर में ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी के कारण कई लोगों ने अपनी जान गवाई. देश की राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार लगातार केंद्र सरकार से दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई को बढ़ाने की मांग कर रही थी. दिल्ली सरकार का कहना था कि दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर की भारी कमी है और यहां कोई ऑक्सीजन प्लांट भी नहीं है इसलिए उन्हें अन्य राज्यों से ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई जाए. जिसके बाद ऑक्सीजन की आपूर्ति ना होने पर दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के बीच का विवाद कई बार सामने भी आया. हालांकि केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली में ऑक्सीजन की उपलब्धता करवाई गई थी.

आज सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित ऑडिट कमेटी ने अपनी एक अंतरिम रिपोर्ट पेश की है. रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली सरकार ने कोरोना संकट के पीक पर जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन की डिमांड की. इससे 12 राज्यों की सप्लाई पर असर पड़ा. दिल्ली सरकार ने कोरोना की दूसरी लहर के समय केंद्र से 1,140 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की डिमांड की थी जोकि दिल्ली की जरूरत से 4 गुना ज्यादा है. दिल्ली में उस समय जितने ऑक्सीजन बेड थे, उसके हिसाब से दिल्ली को 289 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की ही जरूरत थी. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सामान्य तौर पर दिल्ली में 284 से लेकर 372 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत थी, लेकिन ज्यादा सप्लाई की डिमांड करने के कारण दूसरे राज्यों पर इसका असर पड़ा.

यह भी पढ़े -   Paytm कंपनी में निकली 10वीं 12वीं और स्नातक पास के लिए नौकरी, 35 हजार होगा वेतन

रिपोर्ट के सामने आते ही विपक्षी पार्टियों और जनता ने केजरीवाल को जबरदस्त तरीके से घेरना शुरू कर दिया. बीजेपी के तमाम नेताओं ने मामले की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल सरकार की इस लापरवाही के कारण दिल्ली और कई अन्य राज्यों में लोगों को जान गंवानी पड़ी. इस कारण मुख्यमंत्री केजरीवाल को हत्या के मामले में गिरफ्तार करना चाहिए.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में खुलेंगे 2000 हर- हित स्टोर्स, मुख्यमंत्री 2 अगस्त को पंचकूला में करेंगे उद्घाटन

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी मामले को लेकर दिल्ली सरकार के ऊपर कई गंभीर आरोप लगाए. मामले को बढ़ता देख दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सामने आए और उन्होंने कहा कि इस तरह की कोई रिपोर्ट आई ही नहीं है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मैं अपना बचाव करते हुए ट्वीट के जरिए लिखा कि ‘मेरा गुनाह- मैं अपने 2 करोड़ लोगों की साँसों के लिए लड़ा. जब आप चुनावी रैली कर रहे थे, मैं रात भर जग कर Oxygen का इंतज़ाम कर रहा था. लोगों को ऑक्सिजन दिलाने के लिए मैं लड़ा, गिड़गिड़ाया. लोगों ने ऑक्सिजन की कमी से अपनों को खोया है. उन्हें झूठा मत कहिए, उन्हें बहुत बुरा लग रहा है.’

ऑडिट रिपोर्ट आने के बाद से ही लोग ट्विटर पर अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं. #ArrestKejriwal ट्विटर पर नंबर वन ट्रेंड कर रहा है. अभी तक एक लाख से अधिक लोग इस हैशटैग का प्रयोग करते हुए अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. लोग #ArrestKejriwal हैशटैग का प्रयोग करते हुए तरह-तरह की बातें लिख रही हैं. एक टि्वटर यूजर लिख रही हैं, ‘केजरीवाल दिल्ली में ऑक्सीजन की डिमांड ज्यादा दिखाकर 12 राज्यों के लोगों को क्यों मारा?’ एक ट्विटर यूजर लिख रहे हैं, ‘ हम सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध करते हैं कि वो जल्द से जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने का ऑर्डर दे, अरविंद केजरीवाल की वजह से दिल्ली और अन्य राज्य के कई लोगों ने अपनी जान गवाई.’ एक ट्विटर यूजर ने तो यहां तक लिख दिया कि अरविंद केजरीवाल आपदा में अवसर तलाशता है केंद्र सरकार को बदनाम करने का. लगभग सभी ट्वीट में अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है. इसी तरह के तमाम टिप्पणियां, फोटो, वीडियो और मीम्स हैशटैग अरेस्ट केजरीवाल के साथ लोग ट्विटर पर ट्वीट कर रहे हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!