निफ्ट के उद्घाटन से हरियाणा को मिली बड़ी सौगात, ये कोर्स किए जाएंगे शुरू

पंचकूला | केंद्रीय कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने हरियाणा को बड़ा तोहफा देते हुए राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान (निफ्ट) का उद्घाटन किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य को राष्ट्रीय महत्व की संस्था देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार का आभार जताया. उन्होंने कहा कि पंचकूला में राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान की स्थापना से न केवल पंचकूला के इतिहास में बल्कि हरियाणा में भी एक नया अध्याय जुड़ गया है.

Nift Panchkula

देश का 17वां परिसर

यह देश का 17वां परिसर होगा और इसे विश्व स्तरीय निफ्ट परिसर के रूप में विकसित किया जाएगा. इस संस्थान की आधारशिला 29 दिसंबर, 2016 को तत्कालीन केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने रखी थी. इस संस्थान की स्थापना केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय और निफ्ट, दिल्ली के सहयोग से की गई है. 10.45 एकड़ भूमि पर स्थापित यह परियोजना 133.16 करोड़ रुपये की लागत से पूरी हुई है.

20 प्रतिशत सीटें आरक्षित

मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्थान में दूसरे चरण में जो भी काम होगा, उसे पूरा किया जाएगा. उन्होंने केंद्रीय मंत्री से इसमें सहयोग की अपील भी की. मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर केंद्रीय मंत्री सहमत होते हैं तो इसे 50:50 के अनुपात के आधार पर पूरा किया जाएगा. दूसरे चरण में छात्रावास, थिएटर और सभागार बनाने की योजना है. मनोहर लाल ने कहा कि निफ्ट की नीति के अनुसार इस संस्थान में 20 प्रतिशत सीटें हरियाणा के अधिवासियों के लिए आरक्षित होंगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में जुलाई 2022 से पहले कटी अवैध कालोनियों होगी वैध, इन मानदंडों को करना होगा पूरा

यूजी, पीजी कोर्स

संस्थान फैशन डिजाइन/टेक्सटाइल डिजाइन, परिधान उत्पादन के क्षेत्रों में चार वर्षीय डिग्री पाठ्यक्रम और फैशन प्रौद्योगिकी, डिजाइन और फैशन प्रबंधन में दो वर्षीय मास्टर डिग्री पाठ्यक्रम प्रदान करेगा. इसके अलावा, एक साल और छह महीने की अवधि के सर्टिफिकेट प्रोग्राम होंगे। हालांकि लघु अवधि के पाठ्यक्रम शैक्षणिक सत्र 2019-20 से शासकीय पॉलिटेक्निक संस्थान पंचकूला स्थित निफ्ट के अस्थायी परिसर में शुरू किए गए थे. वर्तमान में तीन यू.जी. कुल 259 छात्रों के साथ और दो पी.जी. पाठ्यक्रम संचालित किए जाते हैं. इसके अलावा एक और यू.जी. शैक्षणिक सत्र 2022-23 से कोर्स शुरू किया जा रहा है.

यह भी पढ़े -   Ayush Haryana Jobs: जिला आयुष सोसायटी पंचकूला में निकली भर्ती, यहाँ करे आवेदन

सीएम ने कही ये बड़ी बात

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संस्थान की स्थापना के बाद फैशन डिजाइन के क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक छात्रों को पढ़ाई के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा. यहां प्रतिष्ठित निफ्ट की स्थापना से राज्य में कपड़ा, हथकरघा और कपास उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा. निफ्ट से पास हुए छात्रों के लिए प्लेसमेंट की कोई समस्या नहीं है. ऐसे प्रोफेशनल्स की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों में काफी मांग है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में जुलाई 2022 से पहले कटी अवैध कालोनियों होगी वैध, इन मानदंडों को करना होगा पूरा

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ का नारा दिया है. उनकी दृष्टि कौशल से ही साकार हो सकती है. इसलिए हमने शिक्षा को स्कूल से लेकर विश्वविद्यालय तक कौशल से जोड़ा है. स्कूलों में एनएसक्यूएफ, कॉलेजों में ‘पहल योजना’, उद्योगों में प्रशिक्षण के लिए विश्वविद्यालयों और तकनीकी संस्थानों में उद्योगों की आवश्यकता के अनुसार प्रशिक्षण के लिए इंक्यूबेशन सेंटर, ऐसे में प्रभावी कदम उठाए गए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा प्रयास है कि हमारे युवाओं को ऐसी शिक्षा मिले, जो उन्हें रोजगार योग्य बनाए, सक्षम बनाए और उनमें नैतिक गुण पैदा करे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!