किसान आंदोलन खत्म होने से ट्रक चालकों में छाई मायूसी, इस वजह से किसानों को कर रहे हैं याद

पानीपत । किसान आंदोलन की समाप्ति के साथ ही सभी किसान खुशी-खुशी अपने घरों को लौट चुके हैं. किसान आंदोलन के स्थगित होने और उनकी मांगे मानने से किसानों में खुशी का माहौल बना हुआ है. पानीपत में भी टोल प्लाजा पर किसानों का आंदोलन चला हुआ था. अब किसान घर लौट चुके हैं तो ट्रक चालकों को किसानों की बहुत याद आ रही है. ट्रक चालकों का कहना है कि किसान आंदोलन खत्म हो गया है, लेकिन हमें किसानों की बहुत याद आएगी.

यह भी पढ़े -   अब हरियाणा से चंडीगढ़ और हरिद्वार जाना हुआ और भी आसान, मात्र 2 घंटे में होगा सफर पूरा

Kisan Aandolan go sonipat

पानीपत के टोल प्लाजा पर रुके एक ट्रक चालक ने कहा कि किसान आंदोलन की वजह से कही नुकसान तो ट्रांसपोर्ट को इसका फायदा भी पहुंचा है. किसान आंदोलन समाप्त होने की मायूसी इन ट्रक चालकों के चेहरों पर साफ नजर आ रही थी.

ट्रक चालकों का कहना है कि एक साल तक किसान आंदोलन चला और इस दौरान हरियाणा व पंजाब में सभी टोल फ्री रहें जिससे उन्हें लाखों रुपए की बचत हुई. वहीं इस दौरान उन्होंने होटलों व ढाबों पर खाना न खाकर किसानों द्वारा चलाए जा रहे लंगर पर खाना खाया. इससे उनका खाने पर होने वाला खर्चा भी बचा. इसलिए अब ट्रक चालक कह रहे हैं कि हमें किसानों की बहुत याद आएगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार ने बदला जमीन पैमाईश का तरीका, झगड़ों से मिलेगा छुटकारा

बता दें कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले एक साल से बैठे हुए थे. गुरुनानक जयंती पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापिस लेने की घोषणा की और बाद में किसानों की सभी मांगों पर केन्द्र सरकार की सहमति के बाद किसान आंदोलन स्थगित कर दिया गया. दिल्ली की सीमाओं से किसान अपने घरों को लौट चुके हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!