सरकार का दावा फ़ैल: पानीपत में कोरोना जांच के संसाधनों का अभाव, रैपिड किट खत्म, चार दिन बाद मिल रही रिपोर्ट

पानीपत । कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच स्वास्थ्य विभाग कर्मचारियों एवं संसाधनों के अभाव से जुझ रहा है. रैपिड एंटीजन किट से सैंपलिंग बंद हैं.लैब में टैस्टिंग क्षमता 600 की है लेकिन फील्ड से रोजाना एक हजार से अधिक के सैंपल लिए जा रहे हैं. नतीजा आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट चार दिन बाद मिल रही हैं.

panipat corona news

जिले में वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैला था. 3506 केस मिले थे, 38 की मौत हुई थी. संक्रमण दर इस महीने सबसे अधिक है. सभी टेस्ट आरटीपीसीआर हों रहे हैं.सिविल अस्पताल में रोजाना 400 सैंपल लिए जा रहे हैं जबकि क्षमता 300 सैंपल लेने की है. बाकी सैंपल सीएचसी- पीएचसी में लिये जातें हैं. सिविल अस्पताल सिथत कोविड लैब की टैस्टिंग 600 सैंपल की है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में दिखा लॉकडाउन का सकारात्मक असर, कोरोना संक्रमितों केसों की संख्या में कमी

स्वाब सैंपल के लिए सिंगल विंडो

स्वाब सैंपल एकत्र करने के लिए अस्पताल में सिंगल विंडो ही उपलब्ध है. आशंकित मरीजों की संख्या वृद्धि को देखते हुए दो विंडो की जरूरत है. भीड़ होने के कारण वहां संक्रमण फैलने, आशंकित मरीजों और अस्पताल कर्मचारियों के बीच झगड़े की स्थिति बन जाती है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा मे महामारी अलर्ट- सुरक्षित हरियाणा शुरू, जानिए नई गाइडलाइन

कर्मचारियों का अभाव

सैंपलिंग विंडो पर कर्मचारियों की संख्या देखें तो सिंगल विंडो के हिसाब से ठीक है. दूसरी विंडो शुरू करने पर लैब टेक्नीशियन और चिकित्सक की पूर्ति करना मुश्किल होगा.

रैपिड टेस्ट शुरू करेंगे

सिविल सर्जन डॉ संजीव ने बताया कि सिविल अस्पताल के लिए पांच हजार और फील्ड के लिए 15 हजार रैपिड एंटीजन किट की डिमांड पोर्टल पर डाली हुई है. किट मिलते ही रैपिड टेस्ट कराएं जाएंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!