जाटों के गांव में सरपंच बनेगा, इतना कहकर बंदूकधारियों ने सरपंच पद के प्रत्याशी को गोलियों से भूना

सोनीपत | हरियाणा में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव चल रहे हैं लेकिन यहां पंचायत चुनाव बिना किसी विवाद, खून- खराबे के निपट जाए,ऐसा होना मुश्किल ही नजर आता है. पंचायत चुनाव में मारपीट, वोटों के लिए दबाव डालना, फर्जी वोटिंग और न जाने कितने ही ऐसे मामले है जिनको लेकर शुरू हुई मामूली झड़प इस कदर बढ़ जाती है कि लोग एक-दूसरे के खून के प्यासे हो जातें हैं. ऐसे ही तीन मामले सोनीपत जिले से सामने आए हैं जहां पंचायत चुनावों पर खून के छीटें लग गए हैं. बता दें कि यहां सरपंच व पंच पद के लिए 12 नवंबर को मतदान होगा.

Murder

सरपंच प्रत्याशी पर गोलियों की बौछार

वीरवार रात को सोनीपत जिले के गोहाना खंड के गांव छिछड़ाना में सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ रहे दलबीर और उसके बेटे राहुल पर अज्ञात हमलावरों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई गई है. इस हमले में दलबीर की मौत हो गई है जबकि बेटे राहुल का अस्पताल में इलाज चल रहा है. बताया जा रहा है कि देर शाम पिता- पुत्र चुनाव प्रचार करके घर को लौट रहे थे तो वहां पहले से ही घात लगाए बैठे हमलावरों ने दनादन गोलियां बरसा कर दहशत का माहौल पैदा कर दिया. बता दें कि 53 वर्षीय दलबीर सामान्य वर्ग के वार्ड में पिछड़ा वर्ग के प्रत्याशी थे.

जाटों के गांव में सरपंच बनेगा

मृतक दलबीर के भाई ने बताया कि दोनों पिता- पुत्र देर शाम चुनाव प्रचार करने के बाद बाइक से घर लौट रहे थे लेकिन हमलावर घर के पास पहले से ही घात लगाए बैठे थे. जैसे ही भाई मोटरसाइकिल से नीचे उतरा तो एक हमलावर ने भाई पर पिस्तौल तानते हुए कहा कि तेरी इतनी हिम्मत कि तु जाटों के गांव में सरपंच बनेगा. इतना कहते ही उस बंदूकधारी ने भाई के सिर में गोली दाग दी. इसके बाद भी हमलावरों ने कई गोलियां भाई और भतीजे पर दागी.

सरपंच पर चाकू से हमला

वहीं, दूसरे मामले में सोनीपत के ही गन्नौर खंड के गांव शेखपुरा में सरपंच प्रत्याशी राजेन्द्र पर हमला किया गया है. हर रोज की तरह राजेन्द्र सुबह नहा धोकर खेत में बने मंदिर में पूजा करने के लिए निकला था. राजेन्द्र ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उस पर चाकू से हमला किया गया है जबकि पुलिस मारपीट की पुष्टि कर रही है. पुलिस ने राजेंद्र का बयान दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है.

यह भी पढ़े -   सोनीपत में पति का अंतिम संस्कार करते ही मिली जीत की सूचना, फफक- फफक कर रोई पत्नी

मास्टर जी पर कार्रवाई

गन्नौर खंड के ही गांव अहीर माजरी में एक मास्टर जी को सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ रही अपनी पत्नी प्रियंका के लिए चुनाव प्रचार करना महंगा पड़ गया है. पुलिस ने अपने ही विभाग के एएसआई की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया है. एएसआई रणबीर सिंह ने बताया कि वह अहीर माजरी गांव में मौजूद हैं और शिक्षक धर्मवीर को अच्छी तरह से जानता है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है जो उसके फोन में भी आई है.

यह भी पढ़े -   सोनीपत में पति का अंतिम संस्कार करते ही मिली जीत की सूचना, फफक- फफक कर रोई पत्नी

इस वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि शिक्षक धर्मवीर अपनी पत्नी प्रियंका यादव,जो सरपंच पद की उम्मीदवार हैं, के लिए गांव में चुनाव प्रचार कर रहा है. वह एक सरकारी शिक्षक होते हुए भी अपनी पत्नी के पक्ष में चुनाव प्रचार करके धारा 129 (Representation of People Act. 1951) का उल्लंघन कर रहा है. पुलिस ने ASI की शिकायत पर शिक्षक धर्मवीर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!