बेटियों के विकास के लिए वरदान है सरकार की यह योजनाएं, जानें आवेदन की प्रक्रिया

हिसार । बेटियों की समृद्धि और सर्वांगीण विकास के लिए प्रदेश सरकार समय-2 पर अनेक योजनाओं को क्रियान्वित करतीं रहतीं हैं. इन्हीं योजनाओं में से एक आपकी बेटी-हमारी बेटी योजना बेटियों की समृद्धि और सर्वांगीण विकास तथा समाज में पूरा मान-सम्मान दिलाने की दिशा में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित एक महत्वकांक्षी योजना हैं.

JOB

हालांकि यह योजना विभाग द्वारा 22 जनवरी 2015 से संचालित है और पिछले छः वर्षों के दौरान सैकड़ों बेटियों को इस योजना का लाभ भी मिल चुका है लेकिन आज भी कई लोगों या परिवारों को इस योजना के बारे में मालूम ही नहीं है. महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा योजना का प्रचार- प्रसार भी खूब किया गया,मगर अभी भी कुछ परिवार जानकारी के अभाव में है. ऐसी ही बेटियों को योजना को लाभ पहुंचाने के लिए एक बार फिर से महिला एवं बाल विकास विभाग प्रयासों में जुट गया है.

यह भी पढ़े -   30 सितंबर तक जारी रहेगा 'आयुष्मान भारत पखवाड़ा', इच्छुक व्यक्ति करें लॉगिन 

योजना में यह मिलता है लाभ

इस योजना के तहत अनुसूचित जाति या बीपीएल परिवार में पहली बेटी के पैदा होने पर 21 हजार रुपए की राशि बॉन्ड के माध्यम से प्रदान की जाती है. योजना के तहत दूसरी व तीसरी बेटी किसी भी वर्ग से संबंधित हों ,उनको भी 21-21 हजार रुपए की राशि प्रोत्साहन के तौर पर दी जाती है. बशर्ते कि तीसरी बेटी का जन्म 24 अगस्त 2015 के बाद हुआ हों. योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन पत्र के साथ आधार कार्ड, जन्म प्रमाणपत्र तथा रिहायशी प्रमाणपत्र संलग्न करना अनिवार्य है.

स्तनपान कराने वाली महिलाएं भी ले लाभ

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित प्रधानमंत्री मातृत्व योजना के तहत गर्भवती महिलाओं व स्तनपान कराने वाली माताओं को विभिन्न चरणों के माध्यम से 5 हजार रुपए की राशि नकद प्रदान की जाती है. इस योजना के तहत गर्भधारण का पंजीकरण करवाने पर पहली किस्त के तौर पर एक हजार रुपए ,कम से कम एक प्रसव जांच कराने पर दूसरी किस्त में दो हजार रुपए तथा बच्चे के जन्म का पंजीकरण करवाने उपरांत तीसरी किस्त में दो हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!