भिवानी के अस्पताल में शवों की अदला बदली, पुष्पा की जगह रामकली का कर दिया अंतिम संस्कार

भिवानी । हरियाणा के भिवानी जिले के नागरिक अस्पताल में कोरोना संक्रमित महिला के शव बदली होने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. जिसके बाद मध्य प्रदेश निवासी जीजा व साले का शव लेने के लिए, रो रो कर बुरा हाल है. बता दें कि इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ, जब मीडिया ने दबाव बनाया. मध्य प्रदेश निवासी 40 वर्षीय रामकली भिवानी के ढिगावा गांव में अपने पति व भाई के साथ मजदूरी का काम करती थी. 6 मई को उन्हें कोरोना के चलते चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था , 9 मई को इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई. मौत के बाद रामकली के पति व भाई ने रामकली का शव अंतिम संस्कार के लिए मांगा तो हाहाकार मच गया.

यह भी पढ़े -   कोरोना के समय सुर्खियों में रहे गांव टिटौली में फिर होने लगी हंसी- ठिठोली

corona antim sanskar

भिवानी के अस्पताल में शवों की अदला बदली 

बता दें कि मृतिका रामकली के भाई शैतान बंसल ने बताया कि उन्हें ना तो शव दिया गया और ना ही उन्हें दिखाया गया. उन्होंने यहां तक कहा कि नागरिक अस्पताल में रामकली का शव था ही,नहीं. जब वह यहां से श्मशान घाट गए,  तो वहां भी अंतिम संस्कार का कोई रिकॉर्ड नहीं था. बता दे कि नगर परिषद कर्मचारी पुरुषोत्तम दानव ने खुद श्मशान घाट में रामकली का कोई रिकॉर्ड ना होने की बात स्वीकार की है.

रामकली का ना शव मिला और ना ही अंतिम संस्कार का कोई रिकॉर्ड. इसकी वजह से मृतिका के भाई व पति का श्मशान घाट के बाहर रो रो कर बुरा हाल हो गया. इस बारे में मीडिया ने पूरा मामला सीएमओ डॉ सपना गहलावत के संज्ञान में डाला. जब जांच हुई,  तो पता चला कि कोरोना की वजह से बोंद निवासी पुष्पा नामक महिला की भी मौत हुई है. ग्रामीण पुष्पा की जगह रामकली का शव ले गए और अंतिम संस्कार कर दिया.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!