CBSE बोर्ड ने दसवी रिजल्ट को लेकर जारी किया नोटिस, ऐसे तैयार होगा रिजल्ट

नई दिल्ली । केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई (CBSE) ने दसवीं के विद्यार्थियों का इंतजार करते हुए एक नोटिस जारी किया है. कोरोना महामारी के चलते 10वीं की सीबीएसई (CBSE) की बोर्ड परीक्षाएं रद्द हो गई थी. सीबीएसई (CBSE) के अनुसार दसवीं के परीक्षार्थियों को बिना परीक्षा के पास किया जाना था, लेकिन सीबीएसई (CBSE) ने यह नहीं बताया था कि किस फार्मूले के आधार पर विद्यार्थियों को अगली कक्षा में भेजा जाएगा. सीबीएसई ने बता दिया है कि दसवीं के विद्यार्थियों को पास करने का क्या तरीका रहेगा.

CBSE

सीबीएसई (CBSE) के अनुसार इंटरनल मार्किंग के आधार पर दसवीं के बोर्ड को रिजल्ट घोषित किया जाएगा अब सीबीएसई ने रिजल्ट घोषित करने की तारीखों के बारे में भी बता दिया है. सीबीएसई बोर्ड द्वारा जारी किए गए पत्र के अनुसार जून के तीसरे सप्ताह में दसवीं का रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा. इससे अंदाजा यह निकल कर आया कि 20जून के बाद सीबीएसई कभी भी दसवीं का रिजल्ट जारी कर सकता है.

यह भी पढ़े -   टिकरी बॉर्डर सामूहिक दुष्कर्म केस में पुलिस को हाथ लगा ये बड़ा सबूत, हो सकता है बड़ा खुलासा

 केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने घोषित की टेबुलेशन पॉलिसी

दसवीं के विद्यार्थियों का रिजल्ट बनाने के लिए नई टेबुलेशन पॉलिसी का भी ऐलान कर दिया गया है इसके तहत विद्यार्थियों की पूरे साल भर में जितनी भी परीक्षाएं हुई हैं जैसे की यूनिट टेस्ट, अर्धवार्षिक परीक्षा और प्री बोर्ड परीक्षा उनके आधार पर 80% नंबर दिए जाएंगे.इनमें यूनिट टेस्ट के 10 नंबर,प्री बोर्ड परीक्षा के 40 नंबर और अर्धवार्षिक परीक्षा के 30 नंबर माने गए हैं. इसके अलावा 20% नंबर इंटरनल मार्किंग के लिए तय किए गए हैं.

यह भी पढ़े -   किसान आंदोलन से जुड़े दुष्कर्म मामले में पुलिस को सबूत देने से पहले मृत युवती के पिता लापता

 स्कूल स्तर पर बनाई जाएगी कमेटी

हर स्कूल में रिजल्ट तैयार करने के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी जो विद्यार्थियों का रिजल्ट तैयार करने का काम करेगी. बोर्ड ने स्कूलों को यह भी निर्देश दिए हैं कि किसी भी तरीके से मूल्यांकन में लापरवाही न बरती जाए और किसी भी विद्यार्थी के साथ पक्षपात ना किया जाए. यदि कोई भी स्कूल ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. स्कूल पर पर जो कमेटी बनाई जाएगी उसमें प्रिंसिपल की अध्यक्षता में आठ अन्य सदस्यों को शामिल किया जाएगा. इसके अलावा उक्त कैटेगरी से अलग भी एग्जाम किसी स्कूल ने यदि करवाएं हैं तो उस कमेटी के पास यह अधिकार है कि वह अपने हिसाब से वेटेज तय कर सकेगी.

यह भी पढ़े -   केजरीवाल सरकार ने फिर बढ़ाया सात दिन का लॉकडाउन, जाने क्या रहेंगी पाबंदियां

 स्कूलों को जमा करना होगा 5 जून तक रिजल्ट

सीबीएसई बोर्ड द्वारा जारी किए गए पत्र के अनुसार सभी स्कूल रिजल्ट को 25 मई तक तैयार करेंगे उसके बाद बोर्ड ने सभी छात्रों का रिजल्ट जमा करवा देंगे. बोर्ड में रिजल्ट जमा करवाने की डेडलाइन 5 जून घोषित की गई है.  इसके अलावा इंटरनल मार्किंग का मूल्यांकन भी 11 जून तक बोर्ड में जमा करवाना अनिवार्य है.

 जून में हो सकती है 12वीं की परीक्षाओं की घोषणा

बताने की 12वीं की परीक्षाओं को बोर्ड ने बढ़ते कोरोनावायरस के मामलों के कारण स्थगित कर दिया था. अब 1 जून को मौजूदा स्थितियों की समीक्षा के बाद 12वीं की बोर्ड परीक्षा की तिथियों का ऐलान किया जा सकता है

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!