हरियाणा में किलोमीटर स्कीम के तहत चलेंगी 550 इलेक्ट्रिक बसें, जल्द शुरु होगी प्रक्रिया

चंडीगढ़ | हरियाणा सरकार ने किलोमीटर स्कीम के तहत 550 इलेक्ट्रिक एसी बसों को चलाने का निर्णय लिया है. परिवहन विभाग ने इसके लिए निजी कंपनियों के साथ बात कर बसें चलाने का फैसला लिया है. जल्द ही इस निर्णय पर निविदा प्रक्रिया शुरु की जाएगी. परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया कि इलेक्ट्रिक बसों के लिए जल्द से जल्द टेंडर पास किया जाएगा. इसके लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं.

Electric Buses

परिवहन मंत्री ने बताया कि एक इलेक्ट्रिक बस की कीमत लगभग 1.25 करोड़ रुपए है इसलिए 550 बसों की खरीद परिवहन विभाग अपने स्तर पर नहीं कर सकता है. इस टेंडर में बस की खरीद, प्रति किलोमीटर किराया, चार्जिंग स्टेशन और प्रतिपूर्ति राशि देने के नियम व शर्तें क्या है, वह साफ हो जाएगा.

प्रदूषण स्तर को कम करने के लिए उठाया कदम

मूल चंद के बताए अनुसार, ज्यादातर बसें एनसीआर के पांच लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में चलाई जाएंगी. इसके अलावा, बड़े शहरों में भी कुछ बसें चलाई जाएंगी. सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया ताकि प्रदूषण में कमी आ सके. गौरतलब है कि देश में प्रदूषण का क्या हाल है. वहीं, सर्दियों के दौरान एनसीआर में प्रदूषण अपनी चरम स्तर पर होता है जिससे लोगों को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है. इसी को देखते हुए सरकार ने 550 इलेक्ट्रिक एसी बसें चलाने का निर्णय लिया है.

यह भी पढ़े -   बारिश से खराब हुई फसलों का मिलेगा मुआवजा, 72 घंटे के अंदर इस पोर्टल पर आवेदन करें किसान

निविदा प्रक्रिया के बाद होगा फैसला

परिवहन विभाग ने इसके लिए निजी कंपनियों के साथ बात कर बसें चलाने का फैसला लिया है जल्द ही इस निर्णय पर निविदा प्रक्रिया शुरु की जाएगी. इसी के बाद यह साफ हो पाएगा कि कितनी कंपनियां इन बसों को चलाने के लिए आगे आती हैं. बता दें कि इन बसों के साथ-साथ चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित करवाए जाएंगे.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में किसानों को बरसात से भारी नुकसान, 8 लाख एकड़ फसल डूबी; यहाँ देखे चौंकाने वाले आंकड़े

साधारण बसों में किलोमीटर योजना

बता दें कि प्रदेश में साधारण बसों को भी किलोमीटर योजना के तहत चलाया जा रहा है जिसमें परिवहन विभाग 26 रुपए प्रति किलोमीटर और अन्य रेट के हिसाब से चार्ज करता है. वहीं, इन बसों के चालक या तो बस मालिक या फिर परिचालक विभाग का कर्मचारी रहता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!