अग्निवीरों को भर्ती के लिए कोचिंग देगी हरियाणा सरकार, 200 स्कूलों में शुरू होगी ट्रेनिंग

चंडीगढ़ | अब हरियाणा सरकार अग्निवीरों को भर्ती के लिए प्रशिक्षित करेगी. इसका फैसला शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह ने एक बैठक के दौरान लिया. हुई जिसमें यह फैसला लिया गया कि अग्निवीरों को भर्ती के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा. जिसकी ट्रेनिंग हरियाणा सरकार, 200 स्कूलों में शुरू करेगी.

cm khattar

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि, ”हरियाणा केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के तहत युवाओं को थल सेना, नौसेना या वायु सेना में भर्ती होने के लिए कोचिंग की व्यवस्था शुरु की जाएगी. इसके लिए युवाओं को कक्षा 11 में एडमिशन लेते समय अपनी पसंद के बारे में बताना होगा. प्रशिक्षण शुरू में हरियाणा के 200 स्कूलों में 50 के बैच में शुरू किया जा रहा है.”

मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान लिया फैसला

दरअसल, शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह के बीच एक बैठक हुई थी, जिसके दौरान उन्होंने अग्निवीरों को प्रशिक्षित करने का निर्णय लिया. सरकार के प्रवक्ता का कहना है कि, ”यह निर्णय बैठक में लिया गया था जिसके तहत विभिन्न स्तरों पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे. जिनमें शारीरिक और शैक्षणिक दोनों प्रशिक्षण शामिल होंगे. शारीरिक प्रशिक्षण के लिए जिला सैनिक बोर्ड और उन इच्छुक भूतपूर्व सैनिकों को वरीयता दी जाएगी जो अपनी सेवा के दौरान सेना प्रशिक्षण संस्थानों और भर्ती कार्यालयों में रहे हैं.”

यह भी पढ़े -   NDA Super 100 के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू, यहाँ पढ़ें कैसे कर सकते है रजिस्ट्रेशन

दिया जाएगा कौशल योग्यता प्रमाण पत्र

आगे उन्होंने बताया कि ”शैक्षणिक पाठ्यक्रम के लिए स्कूली शिक्षकों की सेवाएं ली जाएंगी. वहीं शुरुआत में प्रशिक्षण कार्यक्रम वीकेंड और गर्मी की छुट्टियों के दौरान एक महीने के लिए आयोजित किया जाएगा. प्रवक्ता ने बताया कि “बैठक के दौराम मानवेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री को अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी. जिसमें उन्होंने बताया कि 10वीं पास युवाओं को अग्निवीर (सामान्य ड्यूटी) और 12वीं पास युवाओं को अग्निवीर (तकनीकी) के रूप में भर्ती किया जाएगा. इस साल इन भर्तियों के लिए उम्र सीमा 17 से 23 साल है. सेवा देने के बाद, सभी अग्निवीरों को सेना की ओर से कौशल योग्यता प्रमाण पत्र दिया जाएगा. जिसके बाद उन्हें सिविलियन जॉब मिलेगी.”

यह भी पढ़े -   भारतीय सेना में भर्ती होने का मौका, अंबाला में 25 अक्टूबर से होगी अग्निवीर की भर्ती

गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने वाले को वरीयता

आगे सिंह ने बताया कि सेना में 42,000 अग्निवीरों की भर्ती करने की योजना है, जबकि 3,000 अग्निवीरों को नौसेना और वायु सेना में नियुक्त किया जाएगा. एनसीसी ए, बी और सी प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाले युवाओं को अलग-अलग अंक दिए जाएंगे. वहीं जिन्होंने गणतंत्र दिवस परेड में पहले भाग लिया होगा उन कैडेटों को वरीयता दी जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!