गुरुग्राम व फरीदाबाद में फिलहाल लॉकडाउन नहीं, केंद्र की अनुमति का इंतजार

पंचकूला । हरियाणा सरकार ने निर्णय लिया है कि एनसीआर में शामिल जिन जिलों में कोरोना संक्रमित केसों की संख्या ज्यादा बढ़ रही है वहां पर ज्यादा सख्ती बरती जाएगी. राज्य के मुख्य सचिव विजय वर्धन ने शुक्रवार को सरकार को एक प्रस्ताव भेज फरीदाबाद और गुरुग्राम में एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन लगाने की पेशकश की थी. लेकिन फिलहाल गुरुग्राम और फरीदाबाद में लॉकडाउन लगाने के फैसले को टाल दिया गया है क्योंकि लॉकडाउन के लिए हरियाणा सरकार केंद्र सरकार के निर्णय का इंतजार करेगी.

यह भी पढ़े -   फरीदाबाद में महामारी से जुड़ी सारी जानकारी एक ही पोर्टल पर उपलब्ध,  कृष्ण पाल गुर्जर ने बटन दबा की लॉन्च

lockdown

इसके साथ ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों की निगरानी की कमेटी की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि फरीदाबाद, गुरुग्राम, रोहतक, हिसार और सोनीपत में निजी संस्थानों में वर्क फ्रोम होम को प्राथमिकता दी जाएं.

एनसीआर जिलों में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अकेले एक या दो शहरों में लॉकडाउन लगाने का कोई फायदा नहीं है. दुष्यंत चौटाला ने समूचे एनसीआर एरिया में लॉकडाउन लगाने का तर्क दिया. दुष्यंत ने कहा कि रोजाना लाखों लोग एनसीआर इलाकों में आवाजाही करते हैं, संक्रमण की चैन तभी टुटेगी जब समस्त एनसीआर एरिया को लॉकडाउन किया जाएं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में बढ़ रहा है मौतों का आंकड़ा, हर घर में बुखार,खांसी -जुकाम के मरीज

उपायुक्तो को दिए सख्ती बरतने के अधिकार

सरकार ने ज्यादा संक्रमण से प्रभावित जिलों के उपायुक्तो को सख्ती बरतने के आदेश दिए हैं. इसके तहत उपायुक्तो को यह उपाय भी सुझाया गया है कि शाम 6 बजे के बाद सिर्फ दवा और डेयरी उत्पाद की दुकानें खुली रखने की अनुमति दी जाएं. बाकी किराना, आवश्यक वस्तुओं की दुकान, सब्जी या फल आदि की बिक्री शाम 6 बजे तक ही हो.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!