ICMR के अध्ययन में बड़ा खुलासा, हरियाणा के युवाओं का कमजोर हो रहा दिल

चंडीगढ़ | हरियाणा के युवाओं के स्वास्थ्य को लेकर यह खबर बेहद आवश्यक है. ICMR की ओर से एक अध्ययन किया गया है, जिसमें चौंकाने वाली बात सामने आई है कि हरियाणा के युवाओं का दिल कमजोर हो रहा है. आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की ओर से इंडिया स्टेट लेवल डिसीज बर्डन इनिशिएटिव के तहत किए गए अध्ययन में पता चला है कि हरियाणा के युवाओं का दिल कमजोर हो रहा है. 15 से 39 वर्ष के उम्र वर्ग में होने वाली 12.5 फीसदी मौतों में से 15.8 फीसदी में मौत की वजह हृदयरोग है. चौंकाने वाली बात यह है कि सड़क हादसों के बाद हरियाणा में युवाओं के मौत की सबसे बड़ी वजह दिल के रोग है.

यह भी पढ़े -   कार्यसमिति बैठक में सोनिया गांधी के रुख ने साफ की हरियाणा कांग्रेस की तस्वीर, कुमारी शैलजा बनी रहेगी प्रदेश अध्यक्ष

icmr

आमतौर पर 50 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों में ह्रदय से संबंधित बीमारियां देखने को मिलती है. अध्ययन के मुताबिक बीते एक दशक में युवाओं में हृदय से संबंधित रोगों में बढ़ोतरी हुई है और होने वाले मौतों की संख्या भी बढ़ी है. मानसिक तनाव और शारीरिक गतिविधि में कमी होने से भी युवाओं के हार्ट अटैक के मामलों मे बढ़ोतरी हुई है. जारी आंकड़ों की माने तो 40-69 की उम्र में 40.7 फीसदी मौतों में 35.5 फीसदी में मौत की वजह हृदय रोग हैं. इस वर्ग में 40 से 49 के उम्र वर्ग के लोग युवावस्था में ही आते हैं. वहीं 70 से अधिक उम्र वर्ग में 38.5 फीसदी मौतों में हृदय रोगों से मौत का प्रतिशत 34.1 फीसदी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!