ABHA Health ID: हेल्थ आईडी का अब बदल चुका है नाम, जानिए क्यों बदला नाम

नई दिल्ली | सरकार द्वारा आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के तहत भागीदारी बढ़ाने के मकसद से डिजिटल स्वास्थ्य खातों को इस उम्मीद के साथ ABHA नाम दिया गया है ताकि लोग इससे और अधिक जुड़ाव महसूस कर सकें और उन्हें अपनापन महसूस हो.

pm modi
आभा हेल्थ आईडी कार्ड पंजीकरण केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया जा चुका है. आभा हेल्थ कार्ड आयुष्मण भारत डिजिटल मिशन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इस पर कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन आवेदन करके अपना व्यक्तिगत आभा नंबर जनरेट कर सकता है.आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (ABHA) संख्या बनाने के लिए आवेदक नई आभा आईडी के लिए पंजीकरण और लॉगिन कर सकता है. आपकी जानकारी के लिए बता दिया जाए कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) को केंद्र सरकार द्वारा चुना गया है.

यह भी पढ़े -   7th Pay Commission: केन्द्रीय कर्मचारियों के खाते में 1 July से बढ़कर आएगी सैलरी, जानिए कितना होगा फायदा

क्या है आभा (आरोग्य भारत स्वास्थ्य खाता)

आभा नंबर आपका स्वस्थ रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से एक्सेस करने और साझा करने का एक बहुत ही आसान तरीका है. आभा को उनके स्वास्थ्य खातों में डिजिटल रिकॉर्ड रखना है.इस योजना के तहत प्रत्येक भारतीयों को एक विशिष्ट 14 अंक का स्वास्थ्य पहचान संख्या और एक व्यक्तिगत स्वास्थ्य आईडी कार्ड मिलेगा. साथ ही यह उन डॉक्टरों स्वास्थ्य सुविधाओं की पहचान करने और उनके व्यक्तिगत स्वास्थ्य कार्ड को ट्रैक करने में भी मदद करे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!