संसद में जुमलाजीवी व तानाशाह जैसे शब्दों पर लगा प्रतिबंध, यहाँ देखे उन शब्दों की लिस्ट

नई दिल्ली | लोकसभा सचिवालय ने उन शब्दों की नई सूची जारी की है जिनका संसद में प्रयोग असंसदीय माना जाएगा और उन्हें सदन की कार्यवाही की रिकॉर्डिंग से हटा दिया जाएगा. इन शब्दों में भ्रष्ट, नौटंकी और शर्म जैसे कई ऐसे शब्द शामिल हैं जो बहुत आम हैं और अक्सर विपक्षी सांसदों द्वारा सरकार को निशाना बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं. इसी वजह से कई विपक्षी सांसदों ने नए नियमों को लेकर सरकार पर हमला बोला है.

SANSAD

किन शब्दों के प्रयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है?

असंसदीय शब्द 2021 की सूची में जिन शब्दों पर प्रतिबंध लगाया गया है उनमें जुमलजीवी, बाल बुद्धि, कोविड स्प्रेडर, स्नूपगेट (जासूसी कांड), शकुनि, जयचंद, लॉलीपॉप, चांडाल चौकड़ी, गुल खिलाए और पिथु आदि शामिल हैं. इसके अलावा बहरी सरकार, दोहरे चरित्र, दलाल, दादागिरी, दंगा, तानाशाह, तानाशाही, विनाशक, खालिस्तानी और खून की खेती आदि शब्दों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है. लज्जित, भ्रष्ट, बेकार, नौटंकी, पिटाई, छल और अक्षम जैसे बोलचाल के शब्दों के प्रयोग पर भी प्रतिबंध रहेगा.

प्रतिबंधित शब्दों के प्रयोग पर हो सकती है कार्रवाई

नियम के मुताबिक अगर कोई सांसद इन प्रतिबंधित शब्दों का इस्तेमाल करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है. इसके अलावा ये शब्द संसद की कार्यवाही से भी हटा दिए जाएंगे और ये लिखित रिकॉर्ड में नहीं जाएंगे. हालांकि, किस शब्द को हटाना है और किस शब्द को रखना है, इस पर अंतिम निर्णय लोकसभा के अध्यक्ष और राज्य सभा के सभापति का अंतिम निर्णय होगा. प्रतिबंधित शब्दों की यह नई सूची सोमवार से शुरू हो रहे मानसून सत्र से लागू हो जाएगी.

यह भी पढ़े -   Deshbandhu College Jobs: दिल्ली यूनिवर्सिटी के इस कॉलेज में आई विभिन्न पदों पर भर्ती, ऑनलाइन करे आवेदन

टीएमसी सांसद ने सरकार पर साधा निशाना

नए नियमों को लेकर विपक्षी सांसदों ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट कर कहा, ‘कुछ दिनों में सत्र शुरू होने वाला है.।सांसदों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. हमें अब संसद में भाषण देते समय इन बुनियादी शब्दों का उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी: शर्मिंदा, गाली देना, धोखा देना, भ्रष्ट, पाखंडी, अक्षम, मैं इन शब्दों का प्रयोग करूंगा. मुझे निलंबित करो लोकतंत्र के लिए लड़ रहे हो.

यह भी पढ़े -   खत्म हो सकता है JEE और NEET पैटर्न, CUET से इंजीनियरिंग और मेडिकल में मिलेगा एडमिशन

महुआ मोइत्रा ने भी सरकार पर साधा निशाना

एक अन्य टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने भी ट्वीट किया, “आपका मतलब है कि मैं अब लोकसभा में खड़ा नहीं हो सकता और कह सकता हूं कि एक अक्षम सरकार ने भारतीयों को कैसे धोखा दिया है, जिसे अपने पाखंड पर शर्म आनी चाहिए.”

यह भी पढ़े -   Fact Check: ट्रेन में 5 साल से कम उम्र के बच्चों का टिकट लगेगा या नहीं, यहां पढ़े जानकारी

कांग्रेस और शिवसेना ने प्रधानमंत्री मोदी पर साधा निशाना

कांग्रेस ने नए नियमों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा है. पार्टी नेता जयराम नरेश ने ट्वीट किया, “मोदी सरकार की वास्तविकता का वर्णन करने के लिए विपक्ष द्वारा इस्तेमाल किए गए सभी शब्दों को अब ‘असंसदीय’ माना जाएगा. अब आगे क्या?

वहीं शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर कहा, ‘मुझे यह एक मीम याद आ रहा है. अगर करें तो क्या करें, बोलें तो क्या कहें? केवल, वाह मोदी जी वाह.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!