देरी से ऑफिस पहुंचने वाले कर्मचारियों को दी गई वार्निंग, सरकार ने तय किया समय, लेट होने पर होगी कार्यवाई

नई दिल्ली | जो कर्मचारी अपने ऑफिस देरी से पहुंचते हैं अब उनकी चिंता बढ़ने वाली है. आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने इस तरफ एक सख्त कदम उठाया है. केंद्र सरकार (Central Govt) की तरफ से साफ- साफ कहा गया है कि 15 मिनट से ज्यादा की देरी से दफ्तर आने वाले कर्मचारियों को माफ नहीं किया जाएगा. जो भी लेट होगा उसे कार्यवाही का सामना करना पड़ेगा.

OFFICE

पूरे देश के कर्मचारियों को सुबह 9.15 बजे तक कार्यालय में उपस्थित होने और अपनी हाजिरी दर्ज कराने के लिए निर्देशित किया गया है.

अधिकतम 15 मिनट की देरी होगी माफ

इसके अलावा, वरिष्ठ अधिकारियों सहित सभी कर्मचारियों को बायोमेट्रिक सिस्टम का इस्तेमाल करने के लिए भी कहा गया है. कोरोना संक्रमण आने क़े बाद इसका उपयोग बंद कर दिया गया था, जिसे फिर से शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं.

केंद्र सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DOPT) ने कहा है कि ज्यादा से ज्यादा 15 मिनट की देरी को माफ किया जा सकता है. कर्मचारियों को चेताया गया है कि अगर वे सुबह 9.15 बजे तक ऑफिस नहीं आते हैं, तो उनक़े आधे दिन का आकस्मिक अवकाश काट लिया जाएगा.

जारी हुआ यह आदेश

सरकारी कर्मचारियों के लिए जारी आदेश में कहा गया है, “किसी भी वजह से अगर कोई कर्मचारी किसी विशेष दिन कार्य में उपस्थित नहीं हो पाते हैं, तो उन्हें इसकी सूचना देनी होगी नहीं तो आकस्मिक अवकाश के लिए आवेदन करना होगा.”केंद्र सरकार के ऑफिस सुबह 9 बजे से शाम 5.30 बजे तक खुले रहते हैं, मगर जूनियर स्तर के कर्मचारियों का देर से आना और जल्दी चले जाना आम बात है. वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि ऑफिस का कोई निश्चित समय नहीं है, हम अपना काम घर भी ले जाते हैं. वे आमतौर पर शाम 7 बजे के बाद निकलते हैं.

इसके अलावा, उनका तर्क है कि कोविड के बाद इलेक्ट्रॉनिक फाइलों पर अक्सर छुट्टियों या वीकेंट में घर से काम करते हैं. साल 2014 में मोदी सरकार ने कार्यालय के समय को लागू करने की मांग की थी. कर्मचारियों ने इसका विरोध किया था. कुछ का तर्क था कि वे लंबी दूरी का सफर करते हैं. अधिकारी और कर्मचारी समय पर ऑफिस आएं इसके लिए आधार वाली बायोमेट्रिक सिस्टम लागू की गई थी.

मेज पर लगाई बायोमेट्रिक डिवाइस

कई वरिष्ठ अधिकारियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए लाइन में खड़े होने से बचने के लिए अपनी मेज पर बायोमेट्रिक डिवाइस लगाई थी. अब सरकार दोबारा ऐक्शन में नज़र आ रही है. बॉयोमेट्रिक सिस्टम को फिर से शुरू करने के लिए आदेश जारी किए गए हैं. ऐसे में जो भी कर्मचारी ऑफिस में लेट पहुंचते हैं उन्हें सतर्क होने की आवश्यकता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!