तो हरियाणा में सर्दी तक होगी पंचायत चुनावों की गर्मी, जानिए क्या है कारण

रोहतक । 3 नए कृषि कानूनों के विरुद्ध चल रहा किसान आंदोलन अगर शुक्रवार को समाप्त हो भी जाता है तो भी पंचायत चुनावों का आयोजन छठा आम चुनाव जून जुलाई के महीने में भी नहीं हो पाएगा. इसका मुख्य कारण यह है कि सरकार ने पिछली फरवरी में गठित की गई 101 नई पंचायतों की वार्ड बंदी अभी तक नहीं करवाई है. वार्ड बंदी का कार्य संपन्न होने में कम से कम 12 दिन और इसके पश्चात नई वोटर लिस्ट जारी करने में 45 दिन का समय लग जाता है. इन दोनों प्रक्रियाओं को पूर्ण करने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी पंचायत को 3 महीने का समय अवश्य लगेगा. इस प्रकार पंचायत चुनावों की तैयारियां होते होते गर्मी निकल जाएगी और सर्दी का मौसम आ जाएगा.

यह भी पढ़े -   आखिर दुष्यंत चौटाला के पानीपत जाने के कारण विज ने क्यों किया अपना दौरा रद्द, जाने वजह

CHUNAV IMAGE

23 फरवरी को सरकार ने 101 नई पंचायतों का गठन किया था. यह प्रक्रिया तभी पूर्ण होती है जब नई पंचायतों की वार्ड बंदी भी हो जाए. परंतु अभी तक नई पंचायतों की वार्ड बंदी नहीं की गई है. वार्ड बंदी होने में 41 दिन का समय लगता है.

वोटर लिस्ट तैयार करने में भी कम से कम 45 दिन का समय लगता है. इसके बाद इसका पहला प्रकाशन किया जाता है. उसके बाद मतदाता सूची को कई वार्डों में लगाया जाता है ताकि यदि किसी मतदाता को कोई आपत्ति हो तो वह इसमें त्रुटि को सही करवा सके. प्रथम प्रकाशन के तीन-चार दिनों तक आपत्ति दर्ज करवाई जा सकती है. 8 दिनों में इसका निवारण किया जाता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!