सीएम खट्टर ने सिरसा को दी 575 करोड़ की सौगात, इन विकास कार्यों को दी मंजूरी

सिरसा | हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ओढ़ा में आयोजित प्रगति रैली के दौरान सिरसा जिले को 575 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी है. ओढ़ा रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायक चाहे वे पार्टी के हों या विपक्ष के, पूरे राज्य में समान विकास किया है. हरियाणा की पूरी जनता को अपना परिवार मानकर हमने हरियाणा एक-हरियाणवी एक की भावना से काम किया है.

haryana cm press conference

मुख्यमंत्री ने नगर पालिका रानिया, ऐलनाबाद और नगर परिषद डबवाली को छोड़कर सिरसा जिले के लिए घोषणा की, जहां आगामी नगरपालिका चुनाव होने हैं. उन्होंने कहा कि युवाओं को नशे की गिरफ्त से बाहर निकालने के लिए खेलों की ओर आगे ले जाया जा रहा है. इसके लिए सिरसा जिले के 50 गांवों में 5 से 10 लाख रुपये की लागत से जिम या अन्य खेलकूद की व्यवस्था की जाएगी.

मुख्यमंत्री ने ओटू झील के किनारे बसे गांवों के किसानों को बड़ी सौगात देते हुए मिट्टी को एक महीने के लिए उठाने की अनुमति देने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि किसान यहां से 6 टन या 10 टन की ट्राली भरकर अपने खेत में डाल सकते हैं. ट्राली भरने की व्यवस्था सरकार करेगी. इसके लिए किसान को 100 रुपये प्रति टन का भुगतान करना होगा. एक महीने तक इसके लिए किसी परमिशन या लाइसेंस की जरूरत नहीं होगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा की बेटियों का जलवा है कायम, अब इस बेटी ने ऑल इंडिया लॉ एंट्रेंस टेस्ट में हासिल की 5वीं रैंक

मुख्यमंत्री ने कहा कि शेरावाली डिस्ट्रीब्यूटरी पर काम शुरू हो गया है. 5 जून से टेल तक पानी पहुंच जाएगा. इससे आसपास के 20 से 25 गांवों को फायदा होगा. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सिरसा जिले के लिए स्वास्थ्य विभाग की साढ़े 13 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की घोषणा की. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सिरसा में मार्केटिंग बोर्ड द्वारा 88 करोड़ रुपये की लागत से 77 सड़कों का निर्माण किया जायेगा. उन्होंने 12 से 13 स्कूलों की मांगों को पूरा करने का भी ऐलान किया.

यह भी पढ़े -   अजीबोगरीब: रोहतक जेल में बंद राम रहीम असली हैं या नकली, सोमवार को हाईकोर्ट करेगी फैसला

जल निकास की होगी व्यवस्था

मुख्यमंत्री ने सिरसा की जल निकासी व्यवस्था के लिए 34 करोड़ रुपये, ममनखेड़ा में खेल स्टेडियम के लिए 2 करोड़ रुपये, ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यों के लिए 226 करोड़ रुपये की घोषणा की. उन्होंने सिरसा जिले के दो द्वारों पर आरओबी या आरयूबी बनाने की भी घोषणा की. उन्होंने कहा कि सभी विकास कार्य पूरे किए जाएंगे, जो भी मांग आएगी उसे पूरा किया जाएगा. पैसों की कोई कमी नहीं है.

नशीली दवाओं की रोकथाम प्राथमिकता

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सिरसा जिले में नशे की बड़ी समस्या है. अब तक 2022 में सिरसा में 24 और फतेहाबाद में 16 मौतें ड्रग्स के कारण हो चुकी हैं.उनकी प्राथमिकता नशाखोरी को रोकना है. इसके लिए सिरसा जिले में अधिक से अधिक नशामुक्ति केंद्र खोले जाएंगे. पुलिस और नारकोटिक्स ब्यूरो द्वारा भी जागरूकता फैलाई जाएगी. समितियों व टीमों का गठन कर गांवों में जागरूकता अभियान चलाया जाएगा. साथ ही दवा बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़े -   दिल्ली- जयपुर एक्सप्रेस- वे पर बन रहा है इंटरचेंज, 6 महीने तक इन वैकल्पिक रास्तों का करना होगा इस्तेमाल

सिरसा के लोगों को मिलेगा रोजगार

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि रोजगार और उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए औद्योगिक क्लस्टर बनाए जाएंगे. इसके लिए सरकार ने पद्मा योजना शुरू की है. 50 से 100 एकड़ के क्लस्टर होंगे. सिरसा जिले में भी 6 क्लस्टर बनाने की योजना है. वहीं सरकार सिरसा जिले के बनवाला गांव में 125 एकड़ जमीन का भी इस्तेमाल करेगी. इस जमीन का इस्तेमाल खेल या उद्योग के लिए किया जाएगा. इससे बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!