22 मार्च को तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि की आंशका, फसलों की सिंचाई पर लगाएं रोक

जींद । मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी करते हुए जिले में 22 मार्च को हल्की बारिश के साथ तेज गति से हवाएं चलने और ओलावृष्टि की संभावना जताई है. वहीं 23 मार्च को भी गरज चमक के साथ हल्की बारिश की उम्मीद है. बारिश की संभावना के चलते कृषि विशेषज्ञों ने किसानों को फसलों में सिंचाई व स्प्रे का काम रोकने की सलाह दी है.

यह भी पढ़े -   येलो अलर्ट जारी: हरियाणा में आज फिर बदलेगा मौसम, गरज चमक के साथ होगी बूंदाबांदी

barish 3

कृषि विज्ञान केंद्र से मौसम विशेषज्ञ डॉ राजेश कुमार ने बताया कि 24 मार्च तक मौसम परिवर्तन शील रहेगा और 22 व 23 मार्च को हल्की बारिश हो सकती है. 22 मार्च को ओलावृष्टि और 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चल सकती है. इसलिए फसलों की सिंचाई से परहेज़ करें ताकि हवा की गति से फसलें गिरने से बच सकें. जो किसान सरसों की कटाई कर रहे हैं,वे कटी हुई सरसों की फसल को अच्छी तरह से ढकें , ताकि बारिश में भीगने व तेज हवाओं से उड़ने से बचाया जा सके.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में मौसम ने ली करवट, तेज आंधी के साथ बारिश व गिरे ओले

जिले में करीब 2.15 लाख हेक्टेयर में गेहूं की फसल है. अगेती फसल पकने लगी है और अप्रैल के पहले हफ्ते में कटाई शुरू हो जाएगी. अगर बारिश के साथ तेज हवा चलती है, तो फसल गिरने की संभावना है. जिससे उत्पादन पर असर पड़ सकता है. पिछले साल भी बैमौसमी बारिश के कारण गेहूं की फसल को काफी नुकसान हुआ था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!