हरियाणा और यूपी को जोड़ेगा ये सिक्स लेन हाइवे, इन 56 गांवों की जमीन होगी अधिग्रहित

अंबाला | केन्द्र सरकार देशभर में सड़क कनेक्टिविटी मजबूत करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है. उत्तर प्रदेश की ट्राईसिटी चंडीगढ़ से सीधे कनेक्टिविटी करने की दिशा में रिंग रोड़ के बाद अब भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत सिक्स लेन का ग्रीनफील्ड कॉरिडोर प्रोजेक्ट शुरू होने जा रहा है. इस प्रोजेक्ट के तहत शामली से अंबाला तक करीब 110 किलोमीटर लंबे नेशनल हाईवे का निर्माण किया जाएगा.

Four Lane Highway

इस हाइवे के निर्माण के लिए अंबाला के साहा, बराड़ा, मुलाना, कैंट क्षेत्र के 56 गांवों से जमीन अधिग्रहित की जाएगी. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) हरियाणा के लाडवा, जगाधरी, रादौर, सरस्वती नगर, इंद्री तहसील क्षेत्र से होकर गुजरने वाले इस सिक्स लेन हाइवे के निर्माण पर करीब चार हजार करोड़ रुपए की लागत राशि खर्च होगी.

एनएचएआई ने इस हाईवे की डीपीआर तैयार करने के लिए तकनीकी ऑथोरिटी के अधिकारियों के साथ जमीन अधिग्रहण करने के लिए अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र और करनाल में लैंड मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी तय की है. शामली- अंबाला के बीच बनने वाले इस सिक्स लेन हाइवे प्रोजेक्ट को रिंग रोड़ से कनेक्ट किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   त्यौहारों पर वेटिंग टिकट की टेंशन होगी खत्म, इन 10 ट्रेनों में लगेंगे अतिरिक्त कोच

अंबाला ज़िले में इन गांवों की जमीन होगी अधिग्रहित

  • अंबाला शहर के सद्दाेपुर, पंजोखरा
  • अंबाला छावनी के रामगढ़ उर्फ शरीफपुर, रतनहेड़ी, पिलखनी, कपूरी, भीलपुरा, खुड्डी
  • साहा के मिट्ठापुर, समलेहड़ी, तेपला, हरियोली, हरड़ा, रामपुर, घसीटपुर, टोबा, हेमा माजरा, पपलौथा, कालपी, नौहनी, मौजगढ़, राजौली, केसरी, छापरा, शेरगढ़, हरड़ी, अकबरपुरा, धुराला, फुलेलमाजरा, खारूखेड़ा
  • बराड़ा के अलावलपुर, फोक्सा, मनू माजरा, तलरेडी रंगरान, थंबड़, कामस, अधोया हिंदवान, कंबासी, तंदवाली, अधोया मुसलमान, अधोई, दहिया माजरा
  • बराड़ा के सज्जन माजरी, दादुपुर, चहल माजरा, सरकपुर, रजौली, राजोखेड़ी, तंदवाल, पट्टी बखेरू और घेलड़ी
यह भी पढ़े -   त्यौहारों पर वेटिंग टिकट की टेंशन होगी खत्म, इन 10 ट्रेनों में लगेंगे अतिरिक्त कोच

दो राज्यों की यूटिलिटी टीम गठित

एनएचएआई ने इस परियोजना के निर्माण कार्य के बीच में आने वाले वन विभाग, बिजली निगम सहित अन्य सरकारी विभागों को पत्र लिखकर उनकी सरकारी संपतियों का ब्यौरा मांगते हुए यूटिलिटी टीम का गठन किया है. बिजली विभाग को यह सूचना देनी होगी कि इस प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य के बीच उसके कितने पोल बीच में पड़ रहें हैं तो वहीं वन विभाग को बताना होगा कि इस प्रोजेक्ट को शुरू करने से पहले कितने पेड़ काटे जाने है.

4 स्थान होंगे वेसाइड एमिनिटी

110 किलोमीटर लंबे इस सिक्स लेन हाइवे पर सिर्फ चार जगहों पर ही वेसाइड एमिनिटी बनाया जाएगा. इन जगहों पर पेट्रोल पंप, सीएनजी पंप, रेस्टोरेंट और शौचालय आदि की सुविधा उपलब्ध होगी. हाइवे पर सफर करने वाले लोगों के लिए शौचालय की सुविधा निशुल्क रहेगी जबकि अन्य सुविधाओं के लिए निर्धारित दर से कीमत चुकानी होगी.

यह भी पढ़े -   त्यौहारों पर वेटिंग टिकट की टेंशन होगी खत्म, इन 10 ट्रेनों में लगेंगे अतिरिक्त कोच

गंतव्य तक का ही लगेगा टैक्स

सिक्स लेन के इस हाइवे पर वाहन चालकों को शुरुआत से गंतव्य स्थान तक का ही टोल टैक्स वहन करना पड़ेगा. इससे वाहन चालकों को पूरे हाइवे का टोल टैक्स देने से राहत मिलेगी. वहीं इस सिक्स लेन हाइवे को दुर्घटना मुक्त बनाने के लिए हर तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा. इस प्रोजेक्ट को 2024 तक पूरा करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!