बेरोजगारी दर के मामले में अव्वल हरियाणा, सारे रिकॉर्ड तोड़ मई में भी नंबर वन

नई दिल्ली । सीएमआईई के आंकड़ों के अनुसार हरियाणा में नौकरियों की दरकार सबसे अधिक है. सरकार का मानना था कि रोजगार से संबंधित आरक्षण कानून लागू हो जाने के बाद हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों में सुधार होगा. परंतु ऐसा अब तक के प्राप्त आंकड़ों के अनुसार होता दिखाई नहीं दे रहा है.

Berojgari

11 अप्रैल 2021 को जारी हुए CMIE प्राप्त आंकड़ों के अनुसार हरियाणा में बेरोजगारी दर 28.1 % दर्ज की गई. जो कि पूरे देश में सबसे अधिक. हरियाणा के बाद बेरोजगारी दर के मामले में गोवा 22.1 % के साथ दूसरे तथा 19.7% बेरोजगारी के साथ राजस्थान दूसरे स्थान पर है. इसी लिस्ट में सबसे कम बेरोजगारी दर असम (1.1%) तथा कर्नाटक (1.2%) में हैं.

Unemployment Rate (%)
States (India) Apr 2021
Andhra Pradesh 4.9
Assam 0.2
Bihar 11.5
Chhattisgarh 3.0
Delhi 27.3
Goa 25.7
Gujarat 1.8
Haryana 35.1
Himachal Pradesh 11.1
Jammu & Kashmir 11.4
Jharkhand 16.5
Karnataka 2.0
Kerala 7.5
Madhya Pradesh 1.4
Maharashtra 5.5
Meghalaya 1.4
Odisha 1.9
Puducherry 2.7
Punjab 5.3
Rajasthan 28.0
Sikkim 1.8
Tamil Nadu 2.3
Telangana 5.0
Tripura 17.3
Uttar Pradesh 6.3
Uttarakhand 6.0
West Bengal 7.6
यह भी पढ़े -   हरियाणा में नगर परिषद और नगर पालिकाओ में बनेगी प्रॉपर्टी आईडी, पंचायत करेंगी लेखा-जोखा तैयार

वर्तमान में बेरोजगारी की यह है स्थिति

CMIE द्वारा 4 मई 2021 को जारी आंकड़ों के अनुसार हरियाणा में बेरोजगारी दर अभी भी सबसे अधिक है. हरियाणा में बेरोजगारी दर सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 35.1% दर्ज की गई है.

 क्या है बेरोजगारी के कारण

पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन के कारण अप्रैल 2020 में बेरोजगारी दर 23.52% के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई थी. पिछले वर्ष का झटका अभी सहन भी नहीं हुआ था कि कोरोना की दूसरी लहर के कारण हालात 2020 से भी ज्यादा बदतर हो गए. सरकार ने यह माना है कि बढ़ते संक्रमण की चेन को रोकने के लिए मजबूरीवश लॉकडाउन लगाना पड़ा सरकार नहीं चाहती थी कि ऐसे कदम उठाने पड़ें. लॉकडाउन के कारण हालात और भी ज्यादा खराब होते गए.

यह भी पढ़े -   हरियाणा की लाडो ने चलाया अभियान, बच्चियां 20 जून को प्रधानमंत्री मोदी को बोलेंगी "थैंक्यू"

प्रदेश में भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार के सामने बेरोजगारी की समस्या बहुत ज्यादा विकराल रूप ले चुकी है. सरकार के आंकड़े तो यही बयां कर रहे हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!