गर्मियों में जरुर करें इन 5 फलों का सेवन, मौसमी बीमारियों से रहेगा बचाव

चंडीगढ़ | भीषण गर्मी का सितम जारी है और चिलचिलाती धूप और उमस ने लोगों को घरों में दुबकने पर मजबूर कर दिया है. ऐसे तपिश भरे मौसम में बदहजमी और डिहाईड्रेशन जैसी समस्याएं आम बात है तो ऐसे में लोगों को अधिक से अधिक मात्रा में पानी पीने की सलाह दी जाती है ताकि शरीर में पानी की कमी ना हो.

sabji

इस भीषण गर्मी के दौर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी सही बनाए रखने की जरूरत होती है. रोग प्रतिरोधक क्षमता अगर मजबूत होगी तो आप मौसमी बीमारियों से सुरक्षित रहेंगे. इसके लिए कुछ मौसमी फलों का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि फल खाने से फाइबर की अच्छी खासी मात्रा शरीर को मिलती हैं. आइए हम आपको बताते हैं कि इस मौसम में कौन से फल खाने स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद रहेंगे…

तरबूज

तरबूज की तासीर ठंडी होती है. साथ ही इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स भी होते हैं, जो शरीर में पानी की कमी दूर करने में बहुत कारगर हैं. इसलिए गर्मी के मौसम में तरावट के लिए तरबूज एक बेहतर और सेहतमंद विकल्प है. इसमें दूसरे एंटी-ऑक्सिडेन्ट्स और विटामिन्स के अलावा लाइकोपीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है. ये सभी तत्व हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं.

यह भी पढ़े -   दिल्ली- जयपुर एक्सप्रेस- वे पर बन रहा है इंटरचेंज, 6 महीने तक इन वैकल्पिक रास्तों का करना होगा इस्तेमाल

अनानास

ठंडी तासीर वाले फल अन्नानास में जलनरोधी गुण पाया जाता है. अनानास प्रोटीन और वसा के पाचन में भी काफी मददगार होता है. इसमें मौज़ूद फाइबर आपकी पाचन-प्रणाली को बेहतर बनाता है और कब्जियत नहीं होने देता. यह हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनाए रखता है, इसलिए इस गर्मी के मौसम में अनानास का सेवन जरूर करे.

यह भी पढ़े -   हिसार में बनेगा देश का सबसे अत्याधुनिक ग्रीन ईको फ्रेंडली श्मशान घाट, जानें खासियत

आलूबुखारा

गर्मियों में नकसीर फूटने जैसी आम समस्याओं में आलूबुखारा बहुत फ़ायदेमंद होता है. इसकी तासीर ठंडी होती है. आलूबुखारा में विटामिन-ए और सी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारी प्रतिरक्षा-प्रणाली दुरुस्त करते हैं. इसमें फाइबर भी अच्छी मात्रा में होता है जो पाचन-तंत्र को ठीक रखता है. इसके अलावा आलूबुखारा आंखों को भी बहुत फ़ायदा पहुंचाता है.

संतरा

रसभरे संतरे में मौज़ूद बीटा-कैरोटिन और विटामिन-सी शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत करते हैं. साथ ही यह वज़न कम करने वालों के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद है, क्योंकि संतरे में फाइबर अच्छी मात्रा में होता है. इसमें विटामिन-बी थियामिन और फोलेट भी पाया जाता है, जो कोशिकाओं के समुचित विकास के लिए बहुत ज़रूरी होता हैं.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार का ऐलान, धान की जगह दूसरी फसल लगाने पर मिलेंगे 7000 रूपए

लीची

इस फल में विटामिन बी और सी के साथ ही कॉपर और पोटेशियम जैसे मिनरल्स भी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इससे शरीर में लाल रक्त कणिकाओं में बढ़ोत्तरी होती है यानि खून का बनना बढ़ जाता है. हालांकि इसकी तासीर थोड़ी गर्म होती है, लेकिन यह पानी का एक बेहतर स्रोत है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!