हरियाणा में आज से सक्रिय होगा नया पश्चिमी विक्षोभ, इस तारीख तक जमकर बरसेंगे बादल

चंडीगढ़ | हरियाणा में शुक्रवार यानि आज से एक नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है. इसके साथ ही, उत्तर प्रदेश पर कम दबाव का क्षेत्र भी बना हुआ है. ऐसे में दोनों के प्रभाव की वजह से सूबे में आज से 8 जुलाई तक बारिश की संभावना जताई गई है. हालांकि, जुलाई महीने के शुरूआती चार दिनों में हरियाणा में सामान्य से 20% कम बारिश हुई है.

weather 1

मौसम विशेषज्ञ डॉ. चंद्रमोहन ने बताया कि हरियाणा में 28 जून को मानसून ने प्रवेश किया था. इसके बाद, मानसून की ज्यादा सक्रियता देखने को नहीं मिल रही है. प्रदेश में बिखराव वाली बारिश की गतिविधियां हो रही हैं. हालत यह है कि कुछ जिलों में लोग अभी भी बारिश की उम्मीद में बादलों की ओर आंख गड़ाए बैठे हैं.

11 जिलों में बारिश की कमी

उन्होंने बताया कि हरियाणा के 11 जिलों में बारिश का बेसब्री से इंतजार बना हुआ है. हालांकि आने वाले दिनों में सम्पूर्ण इलाके में मानसून की बौछारों की संभावना बन रही है. कल नूंह, फरीदाबाद, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, भिवानी, रोहतक, हिसार, जींद, करनाल और यमुनानगर आदि जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हुई है.

आगे ऐसा रहेगा मौसम

डॉ चंद्रमोहन ने बताया कि आने वाले कुछ दिनों में हरियाणा और दिल्ली- NCR में बारिश की गतिविधियां जारी रहेगी. एक नया कमजोर पश्चिमी विक्षोभ आज से सक्रिय हो रहा है, जो अपने साथ अरब सागर की नमी लेकर आएगा. वहीं, कम दबाव का क्षेत्र उत्तर प्रदेश के मध्य भागों पर बना हुआ है, जिसके असर से बंगाल की खाड़ी से नमी मिलेगी.

इसके अलावा, मानसून की अक्षय रेखा फिरोजपुर, रोहतक, लखनऊ, बलिया, पूर्णिया होते हुए मणिपुर तक बनी हुई है. इन सभी के असर से हरियाणा और दिल्ली- एनसीआर में मानसून 8 जुलाई तक मेहरबान रहेगा. इस दौरान कुछ जगहों पर अच्छी बारिश होने की संभावना बनी हुई है.

5 जिलों में बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने हरियाणा के पांच जिलों में आज बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है. इसमें यमुनानगर, पंचकूला, अंबाला, कुरूक्षेत्र और करनाल शामिल हैं. अंबाला, कुरूक्षेत्र और करनाल में बादल छाए हुए हैं और यहां किसी भी वक्त बारिश हो सकती है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!