हरियाणा बेरोजगारी दर में नंबर वन, सुरजेवाला और अनिल विज आपस में भिड़े

चंडीगढ़ | हरियाणा में बेरोजगारी व महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. हाल ही में पेश हुई CMIE की रिपोर्ट में ये बात साबित हुई है. ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, हरियाणा बेरोज़गारी के मामले में पूरे देश में टॉप पर है. हरियाणा के 35.1 प्रतिशत लोग आज बेरोज़गारी का सामना कर रहे हैं. इसी मुद्दे को लेकर कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला और गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज आपस में भिड़ गए. एक तरफ सुरजेवाला ने राज्य सरकार को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया, तो विज ने कांग्रेस को हवन में विघ्न डालने वाले राक्षसियो की संज्ञा दी.

Berojgari

सुरजेवाला ने सरकार पर लगाए आरोप

कांग्रेस महासचिव एवं पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा में बेरोजगारी की दर 35% को पार कर चुकी है. उनका कहना है कि सरकार की गलत नीतियों की वजह से ही ऐसा हुआ है. साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार के ऐसे कदम उठाने की वजह से युवाओं के भविष्य पर ग्रहण लग गया है.

सुरजेवाला ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि हमारे युवा गुणी, शिक्षित और काबिल है फिर भी उन्हें रोजगार के लिए दर-दर ठोकरें खानी पड़ रही है. सुरजेवाला ने महंगाई के लिए भी सरकार को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि ना ही सरकार महंगाई को नियंत्रित कर पाई है और ना ही युवाओं को रोजगार दे पाई है.

अनिल विज ने किया कांग्रेस पर पलटवार

इस पर अनिल विज ने जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस का अपना अलग मतलब है. इस आपातकाल स्थिति में जब सारा देश कोरोंना जैसी महामारी से जूझ रहा है, वहाँ कॉन्ग्रेस ऐसे समय  से ध्यान हटा कर सरकार को इस ओर विमुख करना चाहती है.विज ने कहा कि कांग्रेस रोज रोज नए चोले बदलकर आती है, और नए-नए तरीकों से ध्यान भटका ना चाहती हैं. लेकिन सरकार हिमालय की तरह डटकर खड़ी है और कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा: भाजपा और जजपा दिग्गजों में दिल्ली दरबार में पावरफुल दिखने की होड़

अनिल विज ने कहा कि कांग्रेस कभी भी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि जब भी ऋषि मुनि हवन करते थे,  तो राक्षस आकर उसमें विघ्न  डालने की कोशिश अवश्य करते थे. लेकिन वह कभी कामयाब ही नहीं हुए, आज भी ऋषि-मुनियों को ही याद रखा जाता है. उन्हें कोई याद नहीं रखता.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!