फरीदाबाद शहर को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाएगा आउटर रिंग रोड़, जानें क्या होगा संभावित रूट

फरीदाबाद | राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे फरीदाबाद शहर को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने की दिशा में एक नई योजना बनाई जा रही है. शहर के चारों ओर आउटर रिंग रोड़ बनाने की कवायद शुरू हो चुकी है. फरीदाबाद मेट्रो डिवलेपमेंट ऑथोरिटी (FMDA) ने इसका प्लान तैयार कर लिया है.

traffic jam

ट्रैफिक जाम से मिलेगा छुटकारा

अगर सबकुछ ठीक- ठाक रहा और सैनी सरकार से इस प्रोजेक्ट को हरी झंडी मिलती है, तो बहुत जल्द यह प्रोजेक्ट धरातल पर होगा. इस रोड़ के निर्माण से जहां लोगों को ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी, तो वहीं साथ ही दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में आवागमन भी आसान हो जाएगा.

5 हजार करोड़ रूपए अनुमानित लागत

10 जुलाई को होने वाली बोर्ड मीटिंग में सीएम नायब सैनी के सामने आउटर रिंग रोड़ की योजना को प्रस्तुत किया जाएगा. यदि मुख्यमंत्री की मंजूरी मिलती है तो FMDA धरातल पर अपना काम शुरू कर देगा. लगभग 70 किलोमीटर से ज्यादा के दायरे से गुजरने वाले इस रिंग रोड़ को लेकर अधिकारियों ने जमीनी स्तर पर सर्वे भी कर लिया हैं और एक अनुमान के मुताबिक, इस प्रोजेक्ट पर लगभग 5 हजार करोड़ रूपए की लागत राशि खर्च होने का अनुमान जताया गया है.

क्यों पड़ी रिंग रोड़ की जरूरत

फरीदाबाद की भौगोलिक स्थिति पर नजर डालें तो पूर्वी हिस्से में यमुना नदी और पश्चिमी हिस्से में अरावली पहाड़ी है. पश्चिमी हिस्से में गुरुग्राम बसा है तो पूर्वी हिस्से में नोएडा और गाजियाबाद. उत्तर दिशा में दिल्ली और दक्षिण में पलवल है. इस वक्त शहर की आबादी का आंकड़ा 26 लाख से ज्यादा है.

अगर मास्टर प्लान 2031 की मानें तो शहर की आबादी में बढ़ोतरी लाजमी है. ऐसे में रोड़ नेटवर्क पर अभी से काम करने की जरूरत है, क्योंकि शहर की सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव ज्यादा रहता है. अगर लोगों को गुरुग्राम जाना होता है, तो शहर से होकर निकलना पड़ता है. वहां से आने वाले लोगों को अगर नोएडा जाना पड़े, तो उन्हें भी शहर के अंदर से होकर चलना पड़ता है. इसलिए एक ऐसे रिंग रोड की जरूरत है, जो शहर के बाहर से ही सभी जिलो में ट्रैफिक को पहुंचा दे. इसलिए FMDA ने रिंग रोड़ बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है.

संभावित रूट

FMDA के अनुसार, आउटर रिंग रोड का संभावित रूट बडखल- अनखीर रोड़ से सीधे भांखरी होते हुए पाली सोहना टी पॉइंट पर पहुंचाया जाएगा. यहां से सिकरोना होते हुए सीकरी, सीकरी से डूंडसा गांव के रास्ते नरावली, मौजपुर, मंधावली, भुपानी तक पहुंचाया जाएगा. भूपानी गांव से बादशाहपुर, फिर इसे बड़खल वाली रोड़ से कनेक्ट किया जाएगा. इस हिसाब से यह रिंग रोड़ पांच विधानसभा क्षेत्रों बड़खल, NIT, बल्लभगढ़, पृथला और तिगांव से होकर निकलेगा.

जुड़ेगा ईस्ट- वेस्ट कनेक्टिविटी वाली सड़क से

मौजूदा समय में FMDA ईस्ट- टु- वेस्ट कनेक्टिविटी पर भी काम कर रहा है, ताकि शहर का पश्चिमी हिस्सा डायरेक्टर पूर्वी हिस्से से जुड़ जाए. इससे ही आउटर रिंग रोड को जोड़ा जाएगा. ईस्ट- वेस्ट कनेक्टिविटी रोड़ को बड़खल रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते ग्रेटर फरीदाबाद में लाया जाएगा, ताकि ग्रेटर फरीदाबाद के लोग सीधा गुरुग्राम पहुंच सकें और गुरुग्राम से आने वाले वाहन सीधा ग्रेटर फरीदाबाद होते हुए नोएडा में एंट्री कर सके. अगर आउटर रिंग रोड़ की बात करें तो इसे कुंडली- गाजियाबाद- पलवल (KGP) और नोएडा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे से भी जोड़ने की संभावना है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!