रोचक: हरियाणा के ग्रामीण को 25 साल बाद मिला न्याय, जानिए पूरी कहानी

गुरुग्राम | अक्सर हम सुनते हैं कि भगवान के घर में देर है अंधेर नहीं, ये पंक्तियां बिल्कुल सटीक बैठती है हरियाणा के गांव में रहने वाले दुलीचंद पर जिन्हें 25 साल बाद सीएम विंडो पोर्टल तकनीकी के जरिए न्याय मिला है. हरियाणा प्रशासन की ओर से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, गुरुग्राम के फारुखनगर के घोषगढ़ गांव के रहने वाले दुलीचंद 25 साल के बाद सीएम विंडो पोर्टल तकनीकी के जरिए न्याय मिला है. पोर्टल के माध्यम से अपने बहनोई का मृत्यु प्रमाण पत्र प्राप्त करने में कामयाब रहे. सालों से न्याय की मांग कर रहे दुलीचंद को अंत में सीएम विंडो पोर्टल में शिकायत दर्ज कराने के बाद आखिर क्या न्याय मिल ही गया. इस पोर्टल के माध्यम से बेहद ही कम समय में लोगों की समस्याओं का समाधान किया जा रहा है.

Haryana Cm Window

जानिए पूरा मामला

मुख्यमंत्री के ओएसडी (शिकायत) भूपेश्वर दयाल ने असामान्य देरी के निवारण के एक मामले का हवाला देते हुए आईएएनएस को बताया कि गुरुग्राम का एक ग्रामीण अपने बहनोई देशराज का मृत्यु प्रमाण पत्र हासिल करने में कामयाब रहा, जिसकी सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी. उनके मुताबिक गुरुग्राम के फारुखनगर के घोषगढ़ गांव के रहने वाले दुलीचंद ने शिकायत दर्ज कराई थी कि 26 सितंबर 1996 को बस हादसे में उनके देवर की मौत हो गई थी.

यह भी पढ़े -   रेलवे का बड़ा फैसला, ट्रेनों मे स्लीपरो की जगह लगेगे थर्ड एसी इकोनामी कोच

दयाल ने कहा कि शिकायत (नंबर 29,987) को 1 अप्रैल को सीएम विंडो पर अपलोड किया गया था और तेजी से कार्रवाई करते हुए, गुरुग्राम के सिविल अस्पताल को इस मुद्दे पर सूचित किया गया है. इसके बाद, स्थानीय अस्पताल और नगरपालिका अधिकारियों ने रिकॉर्ड की तलाशी ली और तदनुसार 16 अगस्त को मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किया. इसके बाद शिकायतकर्ता ने अस्पताल और सरकार की कार्रवाई पर संतोष व्यक्त करते हुए अपनी शिकायत वापस ले ली.

वरदान साबित हो रहा सीएम विंडो पोर्टल

मनोहर सरकार द्वारा प्रदेश के लोगों की समस्याओं का समाधान करने के लिए बनाए गए सीएम विंडो पोर्टल के जरिए कम समय में लोगों की समस्याओं का समाधान किया जा रहा है. प्रशासन के अधिकारियों के मुताबिक, पोर्टल शुरू से ही लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है, यहां तक कि गांवों और छोटे शहरों में रहने वाले लोगों के लिए भी. अब तक कुल 8,58,247 शिकायतें प्राप्त हुईं और 8,13,639 का समाधान किया गया.

यह भी पढ़े -   सीएम खट्टर की बड़ी घोषणा, हरियाणा सरकार ई-वाहन खरीदने पर देगी सब्सिडी

मुख्यमंत्री के ओएसडी (शिकायत) भूपेश्वर दयाल का कहना है कि ऐसे कई मामले हैं जहां लंबे समय से लंबित शिकायतों का समाधान सीएम विंडो के जरिए किया गया है. हर माह सीएम विंडो पर प्राप्त शिकायतों की समीक्षा की जाती है और संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्धारित समय सीमा के भीतर उनका समाधान करने का आदेश दिया जाता है, दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है.

यह भी पढ़े -   नवजात के जन्म के 21 दिन के अंदर बनवा लें बर्थ सर्टिफिकेट, वरना काटने पड़ सकतें हैं चक्कर

जानिए क्या है, ‘सीएम विंडो पोर्टल’

CM Window Haryana एक ऑनलाइन सार्वजनिक प्लेटफार्म है जो हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर की भ्रष्टाचार विरोधी राज्य की जनता की शिकायतों के निवारण की महत्वाकांक्षा का परिणाम है. पहले लोगों के पास कोई ऐसा प्लेटफार्म नहीं था जहां वे अपनी समस्याओं को ले जा सकते थे और उन्हें हल कर सकते थे. 25 दिसंबर जो पूर्व पीएम श्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन शासन दिवस के रूप में मनाया गया था. इसी दिन को भारत सरकार द्वारा हरियाणा सीएम विंडो (Haryana Cm Window) का उद्घाटन करने के लिए चुना गया था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!