नितिन गडकरी ने बताया वो प्लान, जिसके बाद दिल्ली- गुरुग्राम के बीच कभी नहीं लगेगा जाम

गुरुग्राम | धौला कुआं से गुरुग्राम के बीच ट्रैफिक जाम की समस्या बहुत जल्द दूर होने जा रही है. केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अपने साथ बीती एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले उनको गुरुग्राम के किसी कार्यक्रम में शिरकत करनी थी और मेरे साथ NHAI के अधिकारी भी थे. हमारी गाड़ी जाम में फंसी तो वहां मौजूद लोगों को भी खुशी हुई कि चलो मंत्री जी को भी जाम का अहसास तो हुआ. मैंने अधिकारियों को बोला कि ये सब तुम्हारी वजह से हुआ है, अगर धौला कुआं से गुरुग्राम तक पूरा डबल डेकर फ्लाईओवर बना दिया जाता तो आज यह दिक्कत पैदा नहीं होती.

यह भी पढ़े -   बासमती चावल की कीमत छू सकती है आसमान, ये होगी बड़ी वजह

traffic jam

बिना पिलर तोड़े डबल डेकर फ्लाईओवर की तैयारी

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अभी इस प्रोजेक्ट पर विचार- विमर्श जारी है कि क्या धौला कुआं से आगे फ्लाईओवर बीच- बीच में तोड़कर एक ही पिलर पर दो लेयर फ्लाईओवर का निर्माण हो सकता है. इंजिनियर्स के लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण मामला है लेकिन इस प्रोजेक्ट को सिरे चढ़ाने की हरसंभव कोशिश की जाएगी. फ्लाईओवर का निर्माण इस तरीके से किया जाएगा कि एक बार चढ़े तो सीधा गुरुग्राम के बाहर निकलेंगे. हालांकि बीच- बीच में उतरने के लिए रास्ते भी बनाएं जाएंगे.

बैंक से अधिक मिलेगा ब्याज

किसी प्रोजेक्ट को सिरे चढ़ाने में पैसा बाधा न बनें,इसको लेकर नितिन गडकरी ने कहा कि उनकी योजना है कि सड़कों और फ्लाईओवर में अब कम आय वर्ग वाले लोगों की पूंजी लगें. उन्होंने बताया कि 10 लाख का निवेश करने पर प्रति माह 7 से 8 फीसदी ब्याज मिलेगा. इसमें पैसा लगाने में लोगों की रुचि बनेगी क्योंकि अब बैंकों में तो ब्याज कम होते जा रहे हैं.

यह भी पढ़े -   सरकारी नौकरी करने वालों के लिए खुशखबरी, मोदी सरकार डीए पर कल ले सकती है बड़ा फैसला

मैं रोड़ का नहीं Agriculture का आदमी

नितिन गडकरी ने कहा कि अगर सही मायने में देखा जाए तो वह रोड़ के नहीं बल्कि Agriculture के आदमी हैं. उन्होंने अपनी एनजीओ जिसमें वह 13 वर्ष से काम कर रहे हैं, का जिक्र करते हुए बताया कि इसका थीम है कि दौड़ने वाले पानी को चलने के लिए, चलने वाले पानी को रुकने के लिए और रुकने वाले पानी को जमीन के अंदर के लिए करना है. यानि गांव का पानी गांव में, खेत का पानी खेत में और घर का पानी घर में रहे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!