17 जुलाई से शुरू होगा चातुर्मास, अवश्य करें इन दिनों भगवान विष्णु के 108 नामों का जप

ज्योतिष | हिंदू धर्म में चातुर्मास को विशेष महत्व प्राप्त है. बता दें कि इस महीने की शुरुआत आषाढ़ महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि से हो जाती है. इस दिन देवशयनी एकादशी भी मनाई जाती है अर्थात् इस दिन से भगवान विष्णु क्षीरसागर में विश्राम करने चले जाते हैं. वहीं, कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को जागृत होते हैं. इस दौरान किसी प्रकार का कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता. अबकी बार 17 जुलाई को देवशयनी एकादशी है.

ekadashi 1

17 जुलाई से शुरू हो जाएगा चातुर्मास

भगवान विष्णु के योग निद्रा में जाने की वजह से किसी भी तरह के शुभ कार्य पर रोक लग जाती है. इसी 4 महीने की अवधि को चातुर्मास कहा जाता है. चातुर्मास के दौरान भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करने का महत्व बताया गया है. आज की इस खबर में हम आपको भगवान विष्णु के 108 नाम के बारे में जानकारी देने वाले हैं. इन नामों का जप करके आप काफी आसानी से भगवान विष्णु को प्रसन्न कर सकते हैं.

अवश्य करें भगवान विष्णु के 108 नामों का जप

  • ऊँ श्री प्रकटाय नम:
  • ऊँ श्री वयासाय नम:
  • ऊँ श्री हंसाय नम:
  • ऊँ श्री वामनाय नम:
  • ऊँ श्री गगनसदृश्यमाय नम:
  • ऊँ श्री लक्ष्मीकान्ताजाय नम:
  • ऊँ श्री प्रभवे नम:
  • ऊँ श्री गरुडध्वजाय नम:
  • ऊँ श्री परमधार्मिकाय नम:
  • ऊँ श्री यशोदानन्दनयाय नम:
  • ऊँ श्री विराटपुरुषाय नम:
  • ऊँ श्री अक्रूराय नम:
  • ऊँ श्री सुलोचनाय नम:
  • ऊँ श्री भक्तवत्सलाय नम:
  • ऊँ श्री विशुद्धात्मने नम :
  • ऊँ श्री श्रीपतये नम:
  • ऊँ श्री आनन्दाय नम:
  • ऊँ श्री कमलापतये नम:
  • ऊँ श्री सिद्ध संकल्पयाय नम:
  • ऊँ श्री महाबलाय नम:
  • ऊँ श्री लोकाध्यक्षाय नम:
  • ऊँ श्री सुरेशाय नम:
  • ऊँ श्री ईश्वराय नम:
  • ऊँ श्री विराट पुरुषाय नम:
  • ऊँ श्री क्षेत्र क्षेत्राज्ञाय नम:
  • ऊँ श्री चक्रगदाधराय नम:
  • ऊँ श्री योगिनेय नम:
  • ऊँ श्री दयानिधि नम:
  • ऊँ श्री लोकाध्यक्षाय नम:
  • ऊँ श्री जरा-मरण-वर्जिताय नम:
  • ऊँ श्री कमलनयनाय नम:
  • ऊँ श्री शंख भृते नम:
  • ऊँ श्री दु:स्वपननाशनाय नम:
  • ऊँ श्री प्रीतिवर्धनाय नम:
  • ऊँ श्री हयग्रीवाय नम:
  • ऊँ श्री कपिलेश्वराय नम:
  • ऊँ श्री महीधराय नम:
  • ऊँ श्री द्वारकानाथाय नम:
  • ऊँ श्री सर्वयज्ञफलप्रदाय नम:
  • ऊँ श्री सप्तवाहनाय नम:
  • ऊँ श्री श्री यदुश्रेष्ठाय नम:
  • ऊँ श्री चतुर्मूर्तये नम:
  • ऊँ श्री सर्वतोमुखाय नम:
  • ऊँ श्री लोकनाथाय नम:
  • ऊँ श्री वंशवर्धनाय नम:
  • ऊँ श्री एकपदे नम:
  • ऊँ श्री धनुर्धराय नम:
  • ऊँ श्री प्रीतिवर्धनाय नम:
  • ऊँ श्री केश्वाय नम:
  • ऊँ श्री धनंजाय नम:
  • ऊँ श्री ब्राह्मणप्रियाय नम:
  • ऊँ श्री शान्तिदाय नम:
  • ऊँ श्री श्रीरघुनाथाय नम:
  • ऊँ श्री वाराहय नम:
  • ऊँ श्री नरसिंहाय नम:
  • ऊँ श्री रामाय नम:
  • ऊँ श्री शोकनाशनाय नम:
  • ऊँ श्री श्रीहरये नम:
  • ऊँ श्री गोपतये नम:
  • ऊँ श्री विश्वकर्मणे नम:
  • ऊँ श्री हृषीकेशाय नम:
  • ऊँ श्री पद्मनाभाय नम:
  • ऊँ श्री कृष्णाय नम:
  • ऊँ श्री विश्वातमने नम:
  • ऊँ श्री गोविन्दाय नम:
  • ऊँ श्री लक्ष्मीपतये नम:
  • ऊँ श्री दामोदराय नम:
  • ऊँ श्री अच्युताय नम:
  • ऊँ श्री सर्वदर्शनाय नम:
  • ऊँ श्री वासुदेवाय नम:
  • ऊँ श्री पुण्डरीक्षाय नम:
  • ऊँ श्री नर-नारायणा नम:
  • ऊँ श्री जनार्दनाय नम:
  • ऊँ श्री चतुर्भुजाय नम:
  • ऊँ श्री विष्णवे नम:
  • ऊँ श्री केशवाय नम:
  • ऊँ श्री मुकुन्दाय नम:
  • ऊँ श्री सत्यधर्माय नम:
  • ऊँ श्री परमात्मने नम:
  • ऊँ श्री पुरुषोत्तमाय नम:
  • ऊँ श्री हिरण्यगर्भाय नम:
  • ऊँ श्री उपेन्द्राय नम:
  • ऊँ श्री माधवाय नम:
  • ऊँ श्री अनन्तजिते नम:
  • ऊँ श्री महेन्द्राय नम:
  • ऊँ श्री नारायणाय नम:
  • ऊँ श्री सहस्त्राक्षाय नम:
  • ऊँ श्री प्रजापतये नम:
  • ऊँ श्री भूभवे नम:
  • ऊँ श्री प्राणदाय नम:
  • ऊँ श्री देवकी नन्दनाय नम:
  • ऊँ श्री सुरेशाय नम:
  • ऊँ श्री जगतगुरूवे नम:
  • ऊँ श्री सनातन नम:
  • ऊँ श्री सच्चिदानन्दाय नम:
  • ऊँ श्री दानवेन्द्र विनाशकाय नम:
  • ऊँ श्री एकातम्ने नम:
  • ऊँ श्री शत्रुजिते नम:
  • ऊँ श्री घनश्यामाय नम:
  • ऊँ श्री वामनाय नम:
  • ऊँ श्री गरुडध्वजाय नम:
  • ऊँ श्री धनेश्वराय नम:
  • ऊँ श्री भगवते नम:
  • ऊँ श्री उपेन्द्राय नम:
  • ऊँ श्री परमेश्वराय नम:
  • ऊँ श्री सर्वेश्वराय नम:
  • ऊँ श्री धर्माध्यक्षाय नम:
  • ऊँ श्री प्रजापतये नम:

डिस्केलमर: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं विभिन्न माध्यमों/ ज्योतिषियों/ पंचांग/ प्रवचनों/ मान्यताओं/ धर्मग्रंथों पर आधारित हैं. Haryana E Khabar इनकी पुष्टि नहीं करता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!