दिल्ली- NCR वालों के लिए आई अच्छी खबर, द्वारका एक्सप्रेसवे को जोड़ा जाएगा दिल्ली- मुंबई एक्सप्रेसवे से; इनको होगा फायदा

गुरुग्राम | राजधानी दिल्ली सहित आसपास क्षेत्र में रहने वालों के लिए आई अच्छी खबर आई है. दरअसल, एनएचएआई द्वारा एनएच 248ए (गुरुग्राम- सोहना एलिवेटेड रोड) पर वाटिका चौक के पास क्लोवरलीफ तैयार करने को लेकर हरी झंडी दिखा दी गई है. भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण (GMDA) को इसके बारे में मंजूरी दे दी गई है.

express way

जीएमडीए का प्लान है कि द्वारका एक्सप्रेसवे और NH48 को जोड़ने वाले क्लोवरलीफ से वाटिका चौक तक एलिवेटेड रोड बनाया जाए. इसके बाद, एनएच248ए, एसपीआर (साउथर्न पेरिफेरल रोड) और गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड पर यातायात को भी कंट्रोल में किया जा सकेगा.

NHAI मुख्यालय में हुई बैठक

सोमवार को एनएचएआई के राजधानी स्थित मुख्यालय में अध्यक्ष संतोष कुमार यादव की अध्यक्षता बैठक का आयोजन किया गया. बैठक के दौरान जीएमडीए अधिकारियों द्वारा अध्यक्ष को एनएच248ए पर वाटिका चौक के समीप क्लोवरलीफ निर्माण की अनुमति मांगी गई.

उन्होंने जानकारी दी कि वर्तमान समय में गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड या द्वारका एक्सप्रेसवे से एसपीआर के माध्यम से वाटिका चौक पर जो वाहन चालक पहुंच रहे हैं, उन्हें दिल्ली- मुंबई एक्सप्रेसवे पर चढ़ने के लिए वाटिका चौक से भोंडसी तक या वाटिका चौक से सुभाष चौक तक का सफर तय करना पड़ रहा है. इसके बाद ही, वह एलिवेटेड हाईवे का इस्तेमाल कर दिल्ली- मुंबई एक्सप्रेस पर पहुंच पाते हैं. यही कारण है कि गुडगांव सोहना रोड पर ट्रैफिक जाम की अवस्था बनी रहती है.

3 महीने में पूरा हो जाएगा डिज़ाइन

द्वारका एक्सप्रेसवे से लेकर एनएच 248ए तक जोड़ने के लिए करीब 5.5 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड रोड बनाये जाने की योजना है. इसके बाद, एनएच- 48, द्वारका एक्सप्रेसवे और एनएच 248ए आपस में तो जुड़ेंगे. साथ ही, यहां से रोजाना हजारों की संख्या में गुजरने वाले वाहन चालकों को भी लाभ मिलेगा. बता दें कि एक बार भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से मंजूरी मिल जाती है, तो उसके बाद जीएमडीए की तरफ से किसी सलाहकार कंपनी को एलिवेटेड रोड और क्लोवरलीफ निर्माण का एस्टीमेट तैयार करने की जिम्मेदारी दे दी जाएगी.

इस बारे में जानकारी देते हुए जीएमडीए के अधिकारी ने बताया कि इसका डिजाइन 3 महीने में तैयार कर लिया जाएगा. इसके बाद, मुख्यमंत्री की तरफ से मंजूरी मिलने के बाद टेंडर आमंत्रित करवा लिए जाएंगे.

साउथर्न पेरिफेरल रोड की हालात जजर्र

गौरतलब है कि एसपीआर (साउथर्न पेरिफेरल रोड) अभी ख़राब हालत में है. द्वारका एक्सप्रेसवे से दिल्ली- मुंबई एक्सप्रेसवे पर जाने वाले वाहन चालकों को इस सड़क को पार करने में 20 से 25 मिनट का समय लग जाता है. बता दें कि एसपीआर पर 68 से लेकर 79 सेक्टरों में करीब 20,000 परिवार रह रहे हैं. ऐसे में सुबह- शाम के समय यहां बहुत ज्यादा भीड़ रहने के कारण जाम की स्थिति बनी हुई रहती है. इससे लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

लगाए गए सैटेलाइट आधारित टोल

जानकारी के अनुसार, इस बैठक में टोल टैक्स का मामला उठाते हुए NHAI अध्यक्ष ने बताया कि NH 248ए पर गांव घामडौज के समीप टोल प्लाजा है, जिसे लेकर लोग आपत्तियां उठाएंगे. जीएमडीए के अधिकारी ने बताया कि प्राधिकरण की तरफ से सेटेलाइट आधारित टोल लगाए जा रहे हैं, जिसमें प्रति किलोमीटर के हिसाब से ही वाहन चालकों को टोल शुल्क देना पड़ेगा. इससे किसी को कोई आपत्ति नहीं होगी.

इस बैठक में परियोजना अधिकारी योगेश तिलक, जीएमडीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ए.श्रीनिवास, मुख्य अभियंता अरुण धनखड़, एनएचएआई के क्षेत्रीय अधिकारी मोहम्मद सैफी, राजेश बंसल, कार्यकारी अभियंता विकास मलिक आदि मौजूद थे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!