मेट्रो में सफ़र करने वाले लोग हो जाए सावधान, रोज काटे जा रहे चालान

नई दिल्ली | कोरोना के मामले बढ़ने के बाद अब मेट्रो में मास्क को लेकर सख्ती बढ़ती जा रही है. हालांकि मेट्रो में मास्क अनिवार्य है, लेकिन अब सर्विलांस बढ़ाकर चालान की कार्रवाई तेज की जा रही है. इसके लिए कई टीमें बनाई गई हैं. दिल्ली पुलिस और सीआईएसएफ की टीमों ने मेट्रो के अंदर और स्टेशनों पर कड़ी नजर रखी है. दरअसल, बहादुरगढ़ में मामले कम हैं, लेकिन यहां से मेट्रो के जरिए दिल्ली तक लोगों की आवाजाही ज्यादा होती है. दिल्ली की इस हरकत ने मामले के बढ़ने की संभावना जताई है.

यह भी पढ़े -   Indian Army में नौकरी का सुनहरा मौका, NCC स्पेशल एंट्री स्कीम के तहत हो रही भर्ती

Delhi Metro

इस वजह से बढ़ रहे हैं मामले

चूंकि मेट्रो में फिजिकल डिस्टेंस कम है, इस वजह से केस बढ़ने की संभावना भी ज्यादा है. यात्रियों की संख्या पर अभी कोई रोक नहीं है, लेकिन मास्क अनिवार्य है. इसमें लापरवाही करने वाले यात्रियों पर अब कार्रवाई तेज की जाएगी. ताकि लोग न सिर्फ मेट्रो के अंदर बल्कि स्टेशनों पर भी फुल मास्क पहनें. दिल्ली जाने वाले अन्य वाहनों में अभी मास्क को लेकर कोई गंभीरता नहीं है.

सार्वजनिक जगहों पर भी कोरोना की रोकथाम पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. मेट्रो में पिछले दो साल में कुछ दिनों को छोड़ दें तो बाकी समय में मास्क अनिवार्य रह है. बीते दिनों जब कोरोना के मामले कम हुए, उसके बाद दिल्ली में मास्क को लेकर अनिवार्यता खत्म हो गई.

यह भी पढ़े -   केंद्रीय कर्मचारियों को जल्द दोहरा तोहफा, फिटमेंट फैक्टर के साथ डीए में भी होंगी बढ़ोतरी

लोगों की लापरवाही को देखते हुए लिया फैसला

उस समय मास्क पहनना या न पहनना यात्रियों के विवेक पर छोड़ दिया गया था, लेकिन मेट्रो में एडवाइजरी के तौर पर लगातार मास्क पहनने की घोषणा होती रही. बाद में जब मामले बढ़े और लोगों ने अभी भी मास्क के प्रति गंभीरता नहीं दिखाई तो उस समय मेट्रो में फिर से मास्क अनिवार्य कर दिया गया. आमतौर पर लोग मास्क लगाते हैं लेकिन इसे मुंह और नाक से नीचे स्लाइड करते हैं. ऐसे में मास्क न के बराबर है. अब इस पर निगरानी बढ़ा दी गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!