हरियाणा में होगी नए डॉक्टरों की भर्ती, रिटायर्ड डॉक्टरों को अब चार की बजाय सात साल का एक्सटेंशन

पंचकूला । सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी से जूझ रही हरियाणा सरकार ने एक बार फिर से सेवानिवृत्त डाक्टरों का रुख किया है. पहले जहां 58 वर्ष की आयु में रिटायर हुए डाक्टरों को चार साल के अनुबंध पर रखा जा रहा था, वहीं अब यह सीमा बढ़ाकर सात साल कर दी गई है. ड्यूटी के दौरान अच्छा आचरण रखने वाले रिटायर डाक्टर 62 की बजाय 65 साल तक अस्पतालों में ओपीडी में अपनी सेवाएं दे सकेंगे. इसके साथ ही प्रदेश सरकार नए डाक्टरों की भर्ती करने की भी तैयारी कर रही है.

Doctor Photo

रिटायर्ड डाक्टर 65 साल तक ओपीडी में दें सकेंगे सेवाएं

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद स्वास्थ्य सचिव राजीव अरोड़ा ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं. हरियाणा में फिलहाल वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों के स्वीकृत 590 पदों में से 209 पद खाली पड़े हैं. इसी तरह चिकित्सा अधिकारियों के 3596 पदों में से 980 पद रिक्त पड़े हैं.

यह भी पढ़े -   रेलवे का बड़ा फैसला, ट्रेनों मे स्लीपरो की जगह लगेगे थर्ड एसी इकोनामी कोच

इतना ही नहीं नेत्र सहायक के 117, रेडियोग्राफर के 232 ,दंतक हाईजेनिस्ट के 175, सीनियर दंतक के 26 और दंतक के 110 पोस्ट खाली होने के चलते इलाज के लिए आने वाले मरीजों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है. प्रदेश में दंतक सर्जन के कुल 41 पोस्ट है लेकिन किसी पर भी कोई नियुक्ति नहीं हो पाईं है.

चिकित्सा अधिकारीयों के 980 पद लंबे समय से खाली

इस समस्या से निजात पाने के लिए प्रदेश सरकार जहां नए डाक्टरों की भर्ती करने की तैयारी में है , वहीं 58 वर्ष की उम्र में सेवानिवृत्त होने वाले डाक्टरों को सीनियर कंसल्टेंट के रूप में नियुक्ति देने की योजना बनाई है. डाक्टर चाहें किसी भी पद से सेवानिवृत्त हुआ हो ,उनकी ड्यूटी ओपीडी में ही लगाई जाएगी.

यह भी पढ़े -   सीएम खट्टर की बड़ी घोषणा, हरियाणा सरकार ई-वाहन खरीदने पर देगी सब्सिडी

स्पेशलिस्ट डॉक्टरों को पोस्टिंग जिला अस्पताल में दी जाएगी. भविष्य में रिटायर्ड होने वाले डाक्टरों को अगर अनुबंध आधार पर सरकारी सेवा में आना है तो उन्हें रिटायरमेंट से एक महिना पहले आवेदन करना होगा. इन डाक्टरों को एक्सटेंशन देते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाएगा कि उनकी नौकरी के आखिरी दस वर्ष में 70% वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट अच्छी हो.

यह भी पढ़े -   राहत: हरियाणा में बारिश से खराब फसलों की होगी विशेष गिरदावरी, किसानों को मिलेगा मुआवजा

इन डाक्टरों की पसंद के तीन जिलों में से किसी एक जिले में उन्हें नियुक्ति दी जाएगी. पहले से एक्सटेंशन पर चल रहे डाक्टरों का कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया गया है और उन्हें नई पॉलिसी के तहत 15 अक्टूबर तक फिर से आवेदन करना होगा. जिन डाक्टरों ने समय से पहले 50-55 साल की उम्र में रिटायरमेंट ले ली थी , उन्हें भी ऑप्शन दिया जाएगा. इन डाक्टरों की फाईल कमेटी के पास जाएंगी जो इस पर अंतिम निर्णय लेंगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!