हरियाणा कांग्रेस में फिर टकराव शुरू, विवेक बंसल ने माकन के बयानबाजी का दिया करार जवाब

चंडीगढ़ | हरियाणा कांग्रेस में फिर से विवाद शुरू हो गया है. राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार की हार को लेकर पार्टी में उच्च स्तरीय बयानबाजी तेज हो गई है. राज्यसभा चुनाव हारने वाले कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अजय माकन की सार्वजनिक बयानबाजी पर प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल ने सवाल उठाया है.

Ajay Maken Haryana Congress

विवेक बंसल रिपोर्ट कांग्रेस हाईकमान को सौंप चुके हैं

विवेक बंसल ने कहा कि उन्होंने राज्यसभा चुनाव में रद्द हुए कांग्रेस विधायक के वोट की पूरी रिपोर्ट आलाकमान को सौंप दी है. इसमें राज्य कांग्रेस के कुछ प्रमुख वरिष्ठ नेताओं की वोट रद्द करने की भूमिका का भी विवरण दिया गया है. इसलिए रिपोर्ट पर आलाकमान का फैसला आने से पहले माकन को सार्वजनिक बयानबाजी से बचना चाहिए था.

बता दें, राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के एक विधायक ने बैलेट पेपर पर गलत निशान लगा दिया था. इस विधायक का वोट रद्द होने के कारण अजय माकन चुनाव हार गए. निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव जीतने वाले कार्तिकेय शर्मा के चुनाव को चुनौती देने के लिए माकन सोमवार को चंडीगढ़ में पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय पहुंचे. फिर उन्होंने अपनी हार के लिए विधायक किरण चौधरी और प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल को जिम्मेदार ठहराया.

यह भी पढ़े -   हो जाएं सावधान! चप्पल पहन कर बाइक चलाने पर कटता है इतने का चालान

माकन से वफादारी के प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है

माकन का कहना है कि अमान्य वोट किरण चौधरी का है. पार्टी के अधिकृत एजेंट विवेक बंसल अंत तक यही जानकारी देते रहे कि 30 विधायकों ने पहली प्राथमिकता के तौर पर वोट डाला है, जबकि 29 वोट ही निकले. माकन के इस बयान पर किरण चौधरी ने यहां तक ​​कह दिया है कि उन्हें माकन से वफादारी का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर राहत जारी, चेक करें लेटेस्ट रेट

बंसल ने मीडिया के पुछे गए सवालों का दिया ये जवाब

अजय माकन के बयान को आप कैसे देख रहे हैं?

माकन को आलाकमान के फैसले का इंतजार करना चाहिए था. इस तरह की बयानबाजी माकन को शोभा नहीं देती.

आपने आलाकमान को जो रिपोर्ट सौंपी है उसमें क्या किरण चौधरी ने अवैध वोट का जिक्र नहीं किया है?

– मैं पिछले 39 दिनों से यह कह रहा हूं कि यह एक संवेदनशील मामला है और मैंने इसकी रिपोर्ट आलाकमान को सौंप दी है.

आपने रिपोर्ट में कांग्रेस के कुछ प्रमुख वरिष्ठ नेताओं की भूमिका के बारे में लिखा है, क्या आपने भी कहा है कि किरण चौधरी क्या कह रही हैं?

– मैंने इस संबंध में किरण चौधरी का कोई बयान नहीं सुना है. किरण चौधरी ने कहा है कि उन्हें पता है कि माकन किसके इशारे पर झूठे बयान दे रहे हैं.

यह भी पढ़े -   भारत में 5G नेटवर्क आने के बाद क्या होंगे बदलाव, यहां जाने अपने सवालों का सही जवाब

किरण चौधरी ने कहा है माकन किसके कहने पर बयानबाजी कर रहे हैं वह जानते हैं

-माकन ने किसके कहने पर यह बयान दिया, किरण चौधरी से पूछिए, लेकिन मैंने आलाकमान को जो रिपोर्ट भेजी है उसमें मैंने अवैध वोट के अलावा और भी कई जानकारियां दी है

माकन ने आपको कटघरे में खड़ा किया है?

– उन्होंने कहा कि मैं पहले ही मान चुका हूं कि राज्यसभा चुनाव में वोट देखने में गलती हुई है, लेकिन यह गलती जानबूझकर की गई है. यह कहना गलत है. इस संबंध में किसी के आरोपों से कोई लेना-देना नहीं है. 2016 के चुनाव में भी आरोप लगाए गए थे. जब तक आलाकमान और मेरे नेता राहुल गांधी चाहते हैं, वह कांग्रेस के लिए काम करते रहेंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!