PM मोदी आज करेंगे डिजिटल स्वास्थ्य मिशन का शुभारंभ, सभी की बनेगी हेल्थ आईडी

नई दिल्ली | देश में स्वास्थ्य व्यवस्था के ढांचे को बेहतर और मजबूत बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘प्रधानमंत्री डिजिटल हेल्थ मिशन’ (पीएमडीएचएम) की शुरुआत करेंगे. जिसके तहत टेक्नोलाजी के माध्यम से भारत में हेल्थ सर्विसेज में सुधार लाना है.

pm modi

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 27 सितंबर, 2021 को प्रात: 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य अभियान (पीएम-डीएचएम) का शुभारंभ करेंगे. इसके पश्‍चात, प्रधानमंत्री इस अवसर पर अपना संबोधन भी देंगे. इस योजना का मकसद राष्ट्रीय स्तर पर डिजिटल स्वास्थ्य प्रणाली बनाना है. इसके जरिये मरीज अपने स्वास्थ्य का रिकार्ड सुरक्षित रख सकेंगे और इसे अपनी पसंद के डाक्टरों और स्वास्थ्य संस्थानों के साथ साझा कर सकेंगे.

यह भी पढ़े -   कम हो जाएगा NCR का एक तिहाई हिस्सा, हरियाणा- राजस्थान पर पड़ेगा सबसे ज्यादा असर

प्रधानमंत्री ने 15 अगस्त, 2020 को लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान की पायलट परियोजना की घोषणा की थी. वर्तमान में, पीएम-डीएचएम छह केंद्र शासित प्रदेशों में प्रारंभिक चरण में लागू किया जा रहा है. पीएम-डीएचएम का राष्ट्रव्यापी शुभारंभ एनएचए की आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना  की तीसरी वर्षगांठ के साथ ही किया जा रहा है. इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री भी उपस्थित रहेंगे.

पीएम डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत प्रत्येक नागरिक का एक स्वास्थ्य आईडी बनाया जाएगा. जो स्वास्थ्य खाते के रूप में भी कार्य करेगा, जिससे व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड को मोबाइल एप्लिकेशन की मदद से जोड़ा और देखा जा सकता है. इसके तहत, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स रजिस्ट्री (एचपीआर) और हेल्थकेयर फैसिलिटीज रजिस्ट्रियां (एचएफआर), आधुनिक और पारंपरिक चिकित्सा प्रणालियों दोनों ही मामलों में सभी स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए एक संग्रह के रूप में कार्य करेंगी. यह चिकित्‍सकों/अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए व्यवसाय में भी आसानी को सुनिश्चित करेगा.

यह भी पढ़े -   किसानों की आवाज बुलंद करते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केन्द्र सरकार पर साधा निशाना, MSP पर कानून बनाने की मांग

अभियान के एक हिस्से के रूप में तैयार किया गया पीएम-डीएचएम सैंडबॉक्स, प्रौद्योगिकी और उत्पाद जांच के लिए एक ढांचे के रूप में कार्य करेगा. ऐसे निजी संगठनों को भी सहायता प्रदान करेगा, जो राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य परितंत्र का हिस्सा बनते हुए स्वास्थ्य सूचना प्रदाता या स्वास्थ्य सूचना उपयोगकर्ता अथवा पीएम-डीएचएम के तैयार ब्लॉक्स के साथ कुशलता से स्‍वयं को जोड़ने की मंशा रखते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!