होमगार्ड जवानों पर नहीं चलेगी अफसरों की मनमर्जी, अब ऑनलाइन सिस्टम से लगेगी ड्यूटी

चंडीगढ़ | हरियाणा की मनोहर सरकार ने होमगार्ड जवानों को ड्यूटी में लंबे समय से चलें आ रहें भाई- भतीजावाद की परम्परा को तोड़ते हुए उन्हें बड़ी राहत प्रदान की है. सरकार के पास लगातार शिकायतें दर्ज हो रही थी कि अधिकारी अपने चहेतों को या फिर पैसे लेकर होमगार्ड जवानों की मनपसंद जगह पर ड्यूटी लगाते हैं लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. हरियाणा में अब होमगार्ड जवानों की ड्यूटी ऑनलाइन लगेगी. सोमवार को सूबे के गृहमंत्री अनिल विज ने होमगार्ड्स एवं सिविल डिफेंस विभाग के ऑनलाइन ड्यूटी रोस्टर सिस्टम (ओआरएस) का शुभारंभ किया.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में पंचायत चुनावों का इंतजार खत्म, राज्यपाल दत्तात्रेय ने 30 सितंबर से पहले चुनाव कराने के दिए निर्देश

HOME GUARD

नहीं होगा मानव हस्तक्षेप

पोर्टल के जरिये होमगार्ड को ड्यूटी पर भेजने के बारे में विभाग की डीएसपी तान्या सिंह ने प्रस्तुतिकरण देते हुए बताया कि पोर्टल अपने आप काम करेगा और इसमें किसी भी तरह का मानव हस्तक्षेप नहीं होगा. वहीं पोर्टल के शुभारंभ पर गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि प्रदेश सरकार होमगार्ड जवानों की सुविधाओं में इजाफा करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है और हमारी कोशिश है कि इन्हें भी पुलिस जवानों के बराबर सुविधाएं मिलें.

गृहमंत्री अनिल विज ने पोर्टल के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि ओआरएस सिस्टम ड्यूटी व रोटेशन की तिथि से 7 दिन पहले ही अलर्ट मैसेज देगा. अलर्ट मैसेज में जानकारी मिलेगी कि किस होमगार्ड जवान की ड्यूटी समाप्त होने जा रही है और यह जानकारी जिला कमांडेंट के पास भी जाएगी. होमगार्ड जवानों को जिला मुख्यालय या ट्रेनिंग सेंटर पर अपनी ड्यूटी के बारे में रिपोर्ट दर्ज करनी होगी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा पंचायत चुनाव लड़ने के लिए जेब करनी होगी ढीली, ढाई गुना बढ़ी जमानत राशि

डिजिटल होगा रिकॉर्ड

गृहमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि होमगार्ड जवानों का सेवा, ड्यूटी, हाजिरी, भत्ता रिकॉर्ड इत्यादि डिजिटाइजेशन किया जाएं और ड्यूटी लेने वाले विभागों के साथ इसे एकत्रित करें. उन्होंने बताया कि इस सिस्टम से ड्यूटी आवंटन व रोटेशन में पारदर्शिता आएगी. ड्यूटी में आनलाइन सिस्टम शुरू होने से पक्षपात और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकेगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!