गौशाला के लिए चारा बोने पर मिलेगी 10 हज़ार रुपए प्रति एकड़ की राशि, जानिए कैसे मिलेगा फायदा

चंडीगढ़ । सूबे के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने मंगलवार को चंडीगढ़ में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, बागवानी विभाग, पशुपालन विभाग, हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय आदि संस्थाओं के अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की. इस बैठक में प्रदेश में चल रही चारा समस्या को लेकर विस्तार से चर्चा की गई. बैठक के बाद कृषि मंत्री ने मीडिया से बातचीत करते हुए महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की.

यह भी पढ़े -   Super-100 परीक्षा के लिए 31 मई तक करें आवेदन, मिलेगी IIT और NEET की फ्री कोचिंग

JP DALAL

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि हरियाणा में चारा संकट से निपटने के लिए सरकार एक नई योजना लेकर आ रही है. इस योजना का नाम है ‘चारा बिजाई योजना’. इस योजना के तहत यदि गौशालाओं के आसपास कोई किसान 10 एकड़ भूमि तक चारा उगाकर उसे गौशालाओं को आपसी सहमति के जरिए मुहैया करवाता है, तो ऐसे किसानों को 10 हजार रुपए प्रति एकड़ की सहायता राशि दी जाएगी. यह राशि किसानों के बैंक अकाउंट में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से जमा करवाई जाएगी.

जेपी दलाल ने कहा कि चारा बिजाई योजना का फायदा किसानों को भी होगा और साथ ही प्राकृतिक खेती को बढ़ावा मिलने के साथ-साथ गौशालाओं की भी मदद हो सकेगी. उन्होंने बताया कि 10 हजार रुपए प्रति एकड़ की राशि उन्हीं किसानों को मिलेगी, जिन्हें गौशाला संचालक सर्टिफाई करेंगे कि यें चारा हमनें गौ सेवा में लिया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!