अब गुरुग्राम के राजीव चौक से सोहना तक का 15 मिनट में पूरा होगा सफर, शुरू हुआ मार्ग

गुरूग्राम | गुरुग्राम के राजीव चौक से सोहना तक के सफर में भीड़भाड़ कम करने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 248ए पर बने 6 लेन एलिवेटेड हाईवे को ट्रायल बेसिस पर ट्रैफिक के लिए खोल दिया गया है.

flyover bridge pul highway

नितिन गडकरी ने दी जानकारी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट के माध्यम से उपरोक्त जानकारी देते हुए कहा कि 25 किलोमीटर लंबे गुरुग्राम-सोहना राजमार्ग के खुलने से यात्रियों को सुविधा होगी, उनके ईंधन और समय की बचत होगी. गडकरी ने बताया कि लगभग 2000 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित इस 25 किलोमीटर लंबे गुरुग्राम-सोहना राष्ट्रीय राजमार्ग पर 7 किलोमीटर के कुल एलिवेटेड सेक्शन के साथ 6 लेन एक्सेस कंट्रोल कॉरिडोर विकसित किया गया है. स्थानीय यातायात की सुविधा के लिए राजमार्ग के दोनों ओर तीन तीन लेन सर्विस रोड का निर्माण किया गया है. इसके अलावा, राजमार्ग का यह खंड दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के माध्यम से दिल्ली और गुड़गांव को भी कनेक्टिविटी प्रदान करेगा.

राजमार्ग के निर्माण को दो भागों में बांटा गया था

एक सरकारी प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि निर्माण को निर्धारित समय सीमा में पूरा करने के लिए परियोजना को दो भागों में बांटा गया था. प्रोजेक्ट वन के तहत 8.94 किलोमीटर लंबे इस प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य 1 जनवरी 2019 को राजीव चौक से बादशाहपुर तक शुरू किया गया था. 4.752 किमी की कुल लंबाई के साथ तीन ऊंचे ढांचे तैयार किए गए थे. इस पूरे प्रोजेक्ट के साथ यह एलिवेटेड स्ट्रक्चर गुरुग्राम जिले की सबसे लंबी एलिवेटेड रोड होगी. इसके साथ ही बादशाहपुर में प्रोजेक्ट-1 के तहत 324 मीटर लंबाई का तीसरा एलिवेटेड स्ट्रक्चर भी तैयार किया गया है.

यह भी पढ़े -   अब गुरुग्राम से जयपुर का सफर चार की बजाय 2 घंटे में होगा पूरा, 160 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन

वहीं, 30 जनवरी 2019 को प्रोजेक्ट 2 के तहत भोंडसी से सोहना तक के हिस्से का निर्माण कार्य शुरू किया गया था. इस परियोजना के 12.718 किमी के पूरे खंड में निर्मित. इसके साथ ही छोटे वाहनों की आवाजाही के लिए 750 मीटर हल्का वाहन अंडरपास भी बनाया गया है.

इस पूरे प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य 30 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था. लेकिन कोरोना के दौरान निर्माण कार्य में रुकावट के कारण इसकी समय सीमा 30 जून 2022 तक बढ़ा दी गई थी. प्रवक्ता ने बताया कि प्रोजेक्ट-2 के तहत निर्माण क्षेत्र में 24 लेन का टोल प्लाजा भी बनाया गया है. टोल प्लाजा में दोनों तरफ 12-12 लेन बनाए गए हैं ताकि कम से कम समय में टोल प्लाजा पर वाहनों की आवाजाही हो सके. परियोजना के पूरा होने से पहले की तुलना में यात्रा का समय अब ​​60 मिनट से घटकर 15 से 20 मिनट हो जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!