IFFCO ने बनाई दुनिया की पहली नैनो यूरिया, एक कट्टे की जगह महज आधा लीटर ही काफी

हिसार | भारतीय किसान उर्वरक सहकारी संघ (IFFCO) किसानों के लिए पारंपरिक यूरिया की बजाय एक सस्ता और बेहतरीन विकल्प नैनो यूरिया लेकर आया है. इफको के विपणन प्रबंधक डॉक्टर पुष्पेंद्र ने बताया कि नैनो यूरिया बोरी वाले यूरिया से बेहतर, सस्ता और मिट्टी के लिए अधिक फायदेमंद साबित होगा. उन्होंने बताया कि नैनो यूरिया लिक्विड रुप में आएगा और एक कट्टे की जगह आधा लीटर नैनो यूरिया की बोतल ही काफी होगी.

IFFCO Uria

डॉ पुष्पेंद्र ने बताया कि नैनो यूरिया पर भारत के विभिन्न कृषि विश्वविद्यालयों सहित बड़े संस्थानों में शोध के साथ-साथ किसानों के खेतों में भी बड़े स्तर पर परीक्षण किए गए हैं. परीक्षण में इसके परिणाम पारंपरिक यूरिया से बेहतर मिले हैं. उन्होंने बताया कि नैनो यूरिया को लांच किए जाने के बाद अब तक 17 लाख से ज्यादा बोतल किसान खरीद चुके हैं. नेनो यूरिया को इफको के वैज्ञानिकों द्वारा नैनो बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर कलोल, गुजरात में कई सालों की रिसर्च के बाद विकसित किया गया है. नैनो यूरिया की तकनीक पूरी दुनिया में केवल इफको के पास है.

नैनो यूरिया की विशेषता

डॉ पुष्पेंद्र ने बताया कि नैनो यूरिया की 500 एमएल की एक बोतल की ताकत पारंपरिक यूरिया के 45 किलोग्राम के एक बैग के बराबर होगी. ऐसे में किसानों की पारंपरिक यूरिया के उपर निर्भरता कम हो सकेगी. अधिकांश जगहों पर मिट्टी में नाइट्रोजन की कमी पाई जाती है. ऐसे में जमीन में नाइट्रोजन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए नैनो यूरिया पारंपरिक यूरिया में 30 फीसदी की तुलना में 80 से 90 फीसदी प्रभावकारी होगा. नैनो यूरिया मिट्टी, हवा और पानी की गुणवत्ता में सुधार के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित होगा.

यह भी पढ़े -   दुष्यंत चौटाला के आदेश पर मात्र 6 घंटे में हुआ सरकारी स्कूल का नामकरण, शहीद निशांत मलिक को दी श्रद्धांजलि

नैनो यूरिया का इस्तेमाल

इफको के विपणन प्रबंधक डॉक्टर पुष्पेंद्र ने बताया कि एक एकड़ खेत के लिए 500 ML नैनो यूरिया तरल को 125 लीटर पानी में मिलाकर, अंकुरण/रोपाई के 30 से 35 दिन बाद खड़ी फसल में छिड़काव करना बेहद प्रभावी रहता है. इफको की लिक्विड नैनो यूरिया किसानों की फसल उत्पादन में 8 से 10 प्रतिशत तक बढ़ोतरी और लागत में कमी लाता है.

यह भी पढ़े -   पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा ने कुलदीप बिश्नोई के चैलेंज पर दिया ये बड़ा बयान, यहाँ जाने

इफको विपणन प्रबंधक ने बताया कि पारंपरिक यूरिया को स्टोर करने की एक बड़ी समस्या रहती है लेकिन नैनो यूरिया की बोतल को आप घर मे कही पर भी रख सकते हैं. इस नैनो यूरिया को किसान इफको किसान सेवा केंद्रों, इफको ई- बाजार के बिक्री केंद्रो एवं सहकारी समितियों से 200 रुपए प्रति बोतल (500ml) खरीद सकते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!