दिल्ली में बिजली को लेकर केजरीवाल का बड़ा बयान, कहा – अब नहीं मिलेगी…

नई दिल्ली । गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फ्री बिजली को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है. जी हां, गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये उन्होंने कहा कि – ”अब दिल्ली में सभी को मुफ्त बिजली नहीं मिलेगी. उन्होंने कहा कि जो भी शख्स बिजली सब्सिडी लेना चाहता केवल उसे ही फ्री बिजली मिलेगी और जो शख्स नहीं लेना चाहेगा उसे नहीं दी जाएगी.” यानी की अब फ्री बिजली की व्यवस्था वैकल्पिक तौर पर दी जाएगी.

यह भी पढ़े -   केन्द्रीय सड़क मंत्री नितिन गडकरी ने की घोषणा, खुशी से झूम उठेंगे कार-बाइक चलाने वाले

Arvind Kejriwal

1 अक्टूबर से लागू होंगे नियम

फ्री बिजली को 1 अक्टूबर से वैकल्पिक कर दिया जएगा. मुख्यमंत्री ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि- ”दिल्ली में बहुत सारे लोगों को फ्री बिजली मिलती है. इसको लेकर हमें कई सुझाव आते रहते हैं. जिसमें कई लोगों का कहना है कि हम फ्री बिजली नहीं लेना चाहते, हम सक्षम हैं. आप सब्सिडी के इस पैसे को कहीं स्कूल या अस्पताल बनाने में इस्तेमाल करें.” इसी को देखते हुए केजरीवाल ने यह फैसला लिया कि उन लोगों को बिजली मुफ्त मिलेगी जो फ्री बिजली मांगेंगे. इसी के साथ इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में केजरीवाल ने युवाओं के स्टार्टअप का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने यह ऐलान किया कि राजधानी को जल्द ही स्टार्टअप हब बनाने की ओर काम किया जाएगा. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि दिल्ली कैबिनेट ने दिल्ली स्टार्टअप नीति पारित कर दी है.

2015 में चला ‘गिव इट अप’ कार्यक्रम

दरअसल, साल 2015 में अंतरराष्ट्रीय एनर्जी समिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वार सब्सिडी छोड़ो अभियान चलाया गया था. जिसमें उन्होंने जनता से यह अपील की थी कि जो लोग समृद्ध हैं, जिन्हें जरूरत नहीं उन्हें सब्सिडी नहीं लेनी चाहिए. उन्होंने उन लोगों का भी धन्यवाद किया जिन्होंने सब्सिडी लेने से मना कर दिया था. इस अभियान से लोगों को जोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने givitup.in वेबसाइट की शुरुआत भी की थी. जिसमें 3,23,822 लोगों ने अपने एलपीजी गैस सिलिंडर पर सब्सिडी नहीं लेने का फैसला करते हुए आवेदन डाला था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!